Hantavirus In Hindi News: जानिए हंता वायरस क्या हैं? इसके लक्षण और बचाव

Hantavirus Kya hai in Hindi News/Details | हंता वायरस क्या हैं?  |हंता वायरस से कैसे बचा जाये | Hantavirus In Hindi India News | Hanta Virus Se Kaise Bache in Hindi

हम अपने इस लेख के माध्यम से आपको बताना चाहते हैं कि, पहले से ही कहर बरपा रही कोरोना वायरस का साथ देने के लिए “हंता वायरस’’ ने अपने कदम बढ़ा दिये हैं। ये खबर हम सभी के लिए बेहद चिन्ता का विषय हैं क्योंकि हमारे पास तो पहले ही कोरोना का इलाज नहीं हैं और ऊपर से ये हंता वायरस तो जले पर नमक छिड़कने के जैसा हैं।

क्या हैं हंता वायरस ? (What is Hantavirus in Hindi)

हंता वायरस जो कि, उस समय सामने आया हैं जब पूरी दुनिया पहले ही कोरोना वायरस के खौफ में जी रही हैं, इन हालातों में हंता वायरस का आना किसी तुफान से कम नहीं हैं जिसकी चपेट में पूरी दुनिया आ सकती हैं। आईए जानते हैं क्या हैं हंता वायरस ?

हंता वायरस अगर किसी और समय आता तो शायद हम इसे उतने खौफ और डर की नजर से नहीं देखते क्योंकि हंता वायरस कोरोना वायरस की तरह या उसके जितना खतरनाक नही हैं पर बिगड़ते हालतों के कारण हंता वायरस भी कोरोना जितना ही खतरनाक और डरावना लग रहा हैं।

ये वायरस उतना घातक नहीं हैं पर मामूली भी नहीं हैं क्योंकि इससे संक्रमित व्यक्ति के फेफड़ो में पानी भर जाता हैं और उसके बाद उसे सांस लेने में परेशानी होने लगती हैं। इसलिए हंता वायरस से बचने के लिए हम आपको सलाह और चेतावनी दोनो देते हैं कि, कृप्या करके चूहे और गिलहरीयों से दूर रहे।

Hantavirus News India in Hindi

चीन हैं दोनो की उत्पत्ति का केंद्र-

अभी तक कुछ साफ-साफ कहा नहीं जा सकता हैं पर इतना तय हैं कि, पहले कोरोना वायरस और अब उसकी बहन हंता वायरस, दोनो की मां अर्थात् उत्पत्ति केंद्र चीन ही हैं यहीं से इन दोनो वायरसो की शुरुआत हुई हैं और अब देखना हैं कि, चीन की ये दोनो बहने कहां तक विश्व को अपनी चपेट में लेती हैं।

कोरोना का साथ देने आ गई हैं उसकी बहन हंता वायरस-

कोरोना और हंता वायरस दोनो बहने हैं क्योंकि दोनो की जननी कोई और नही बल्कि चीन ही हैं, इस हिसाब से दोनो बहने हुई।

पहले ही हम कोरोना को रोक नहीं पा रहे हैं और ऊपर से उसकी बहन, हंता वायरस ने भी आगाज कर दिया हैं, जो कि, पूरी दुनिया के लिए चिन्ता का नया सबब बन चुका हैं।

हंता वायरस भी कोई कम खतरनाक नहीं हैं बल्कि इससे संक्रमित 38 प्रतिशत लोगो की मौत हो जाती हैं, इसलिए हम इसके हल्के में नहीं ले सकते हैं।

Read: जानिए कोरोना वायरस के लक्षण, बचाव

चीन का ही निवासी बना हंता वायरस का पहला शिकार-

                                     हंता वायरस ने अपना पहला शिकार भी चीन में किया हैं।

संक्रमित व्यक्ति बस में अपने कार्यस्थल शैडॉंग में जा रहा था और उसके साथ लगभग 32 लोग अन्य उस बस में मौजूद थे। इस वायरस से इस व्यक्ति कि मौत के बाद इन लोगो की लगातार जांच की जा रही हैं।

हंता वायरस के लक्षण-

चूंकि ये वायरस अभी-अभी सामने आया हैं इसलिए इसके संबंध में ज्यादा तो नहीं कहा जा सकता हैं पर अध्ययन के मुताबिक जिन लक्षणों की चर्चा हो रही हैं वो कुछ इस प्रकार हैं-

  1. हंता वायरस हवा अर्थात् सांस के द्धारा नहीं फैलता हैं,
  2. इसके संक्रमित व्यक्ति को तेज सिर दर्द होता हैं,
  3. पूरे शरीर में जबरदस्त दर्द होता हैं,
  4. उल्टीयां होने लगती हैं,
  5. पेट में भी जोरो का दर्द हो सकता हैं,
  6. फेफड़ो में पानी का भर जाना,
  7. सांस लेने में परेशानी महसूस करना,
  8. चूहे और गिलहरीयो के द्धारा होता हैं संक्रमण आदि।

Read:कोरोना वायरस से कैसे बचें

हंता वायरस का संबंध हैं चूहे और गिलहरीयों से-

हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से एक तरह से चेतावनी और सलाह भी दे रहे हैं कि, यदि आपने भी किसी पालतू जानवर के तौर पर गिलहरी या फिर चूहे को पाल रखा हैं तो आपके इस हंता वायरस से संक्रमित होने की संभावना बेहद ज्यादा हैं।

Hantavirus in hindi

चूहें या फिर गिलहरी के मल और मूत्र आदि को छुने के बाद कोई व्यक्ति अपने नाक, आंख या फिर मुहं पर अपना हाथ लगाता हैं या छूता हैं तो उसके हंता वायरस से संक्रमित होने का खतरा बेहद ज्यादा हैं।

इसलिए हिंदी सरकारी योजना की तरफ से हम आपसे ये विनती करते हैं कि, कृप्या करके कुछ समय के लिए अपने इन पालतू जानवरों से दूरी बनाए और खुद को सुरक्षित रखें।

ये कुछ शुरुआती लक्षण हैं जो कि, अभी तक के अध्ययन के मुताबिक सामने आये हैं और ऐसा माना जा रहा हैं कि, इसके और भी लक्षण जल्द सामने आ सकते हैं।

कोरोना के बाद कहां तक जानलेवा हैं हंता वायरस ?

कोरोना के बाद अब हंता वायरस ने पूरे विश्व में हलचल मचा दी हैं या ये भी कह सकते हैं कि, कोरोना की दूसरी बहन ने भी अपनी आंखे खोल दी हैं।

हम आपको बताने जा रहे हैं कि, हंता वायरस वैसे तो इतना घातक नहीं हैं फिर भी बेहद खतरनाक हैं क्योंकि सी.डी.सी के मुताबिक इससे संक्रमित लगभग 38 प्रतिशत लोगो की मौत हो जाती हैं।

इसलिए हम केवल इतना ही कह सकते हैं कि, पहले तो आप खुद को कोरोना से बचाईए और उसके बाद हंता वायरस से खुद को बचाने के लिए चूहे और गिलहरीयो से दूरी बना लीजिए।

हिंदी सरकारी योजना की अपील और चेतावनी दोनो-

हर सरकारी योजना, जिसके आप पाठक हैं आपको सूचित करना चाहते हैं कि, कोरोना के बाद अब हंता वायरस आ गया हैं इसलिए इससे बचने के लिए आप चूहे और गिलहरीयो से दूर रहे और यदि आपने उन्हें पाल रखा हैं तो उनसे दूरी बना ले क्योंकि इस हंता वायरस का संक्रमण चूहे और गिलहरीयो के द्धारा फैल रहा हैं।

अन्त, आपसे निवेदन हैं कि, आप हमारी बातो को गंभीरता से लेगे और अपनी सुरक्षा के द्धारा विश्व की सुरक्षा में योगदना देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *