Swachh Survekshan 2022 Full Details in Hindi - स्वच्छ सर्वेक्षण 2022

Swachh Survekshan 2022 Full Details in Hindi – स्वच्छ सर्वेक्षण 2022

स्वच्छ सर्वेक्षण 2022

अपने इस लेख मे, हम, मूल तौर पर Swachh Survekshan 2022।। स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 की जानकारी अपने सभी पाठको को प्रदान करेंगे ताकि वे भी अपने शहर, गांव, गली, चोब्बारा या नुक्कड़ को इस सर्वेक्षण में, शामिल करेक स्वच्छ भारत के निर्माण में, अपना योगदान दे सकें।

swachh survekshan 2022

survekshan 2022 start date? के जबाव हमें, हम, आपको बता दे कि, इस सर्वेक्षण की आधिकारीक शुरुआत केंद्रीय मंत्री श्री. हरदीप सिंह पुरी द्धारा ’’ स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 ’’ की शुरुआत की गई है जो कि, इस श्रृंखला का 6वां संस्करण है जिसका एकमात्र मौलिक लक्ष्य है स्वच्छ भारत का निर्माण करना ताकि ना केवल महात्मा गांधी के सपने को पूरा किया जा सकें बल्कि साथ ही साथ ही आम भारतीय को एक अच्छा व स्वच्छ जीवन भी प्रदान किया जा सकें।

अन्त, इस लेख में, हम, इन बिंदुओं कि – Swachh Survekshan 2022 ।। स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 ।। swachh survekshan 2022 dates? ।। swachh survekshan 2022 start date? ।। स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 पंजीकरण – हिंदी में, पूरी जानकारी प्रदान करेंगे ताकि आप सभी इस सर्वेक्षण में, बढ़ – चढ़ कर भाग ले सकें और स्वच्छ भारत के निर्माण में, अपना योगदान दे सकें।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 पर एक नजर

भारत और भारतवासियो को स्वच्छ और स्वस्थ बनाने के लिए स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 का 6वां संस्करण जारी कर दिया हैं जिसके तहत अपशिष्ट जल के स्वस्थ और स्वच्छ निस्तारण पर जोर दिया जायेगा और जल की स्वच्छता और संरक्षण से संबंधित तमाम मानदंडो में तमाम जरुरी सुधार किया जायेगा ताकि भारत और भारतवासियो को स्वच्छ और स्वस्थ बनाया जा सकें।

इसके तहत प्रेरक दाऊऱ सम्मान की 5 अन्य श्रेणियो को शामिल किया गया हैं ताकि  सभी भारतीय शहरो और राज्यो को अधिक से अधिक योगदान औऱ बेहतर प्रदर्शन के लिए प्रेरित किया जा सकें।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 पर केंद्रीय मंत्री श्री. हरदीप सिंह पुरी का बयान

स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के शुभारम्भ के शुभ मौके पर केंद्रीय मंत्री श्री, हरदीप सिंह पुरी का कहना हैं कि, ’’ पिछले वर्ष की तरह स्वच्छता कड़ी की निरन्तरता सुनिश्चित करने की दिशा में, मंत्रालय के प्रयासो के तहत स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 का संकेतक अपशिष्ट जल के निस्तारण और फिर से इसे इस्तेमाल योग्य बनाने पर केंद्रित होगा।’’

स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के मौलिक लक्ष्यो पर एक नजर

हम अपने सभी भारतवासियो को स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के मौलिक लक्ष्यो के बारे में बताना चाहते हैं जो कि, इस प्रकार से हैं-

  1. स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के तहत गीले, शुष्क और खतरनाक अपशिष्टो को अलग किया जायेगा,
  2. स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के तहत खतरनाक अपशिष्टो के सावधानीपूर्वक निस्तारण पर जोर दिया जायेगा,
  3. स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के तहत गीले औऱ शुष्क खतरनाक अपशिष्टो के निस्तारण और पुन-चक्रण पर जोर दिया जायेगा और तमाम जरुरी सुधार किये जायेगे,
  4. स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के तहत कचरे फेकने और शहरो की सफाई की स्थिति पर ध्यान दिया जायेगा,
  5. स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 में, कुल 1.87 करोड़ भारतीयो ने योगदान दिया था इसलिए स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 में इस योगदान की संख्या को बढाने की पुरजोर कोशिश की जायेगी आदि।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 के तहत उपरोक्त सभी मौलिक लक्ष्यो को पूरा किया जायेगा ताकि भारत और भारतवासी स्वच्छ और स्वस्थ हो।

Read: (Pdf Form} प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना

स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के तहत शामिल प्रेरक दाऊर सम्मान की 5 अन्य उप श्रेणियो पर एक नजर

स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के तहत प्रेरक दाऊर सम्मान की 5 अन्य उप श्रेणियो को शामिल किया गया हैं जो कि, इस प्रकार से हैं-

  1. दिव्या अर्थात् प्लेटिनम श्रेणी,
  2. अनुपम अर्थात् स्वर्ण श्रेणी,
  3. उज्जवल अर्थात् रजत श्रेणी,
  4. उदित अर्थात् कांस्य श्रेणी व
  5. आरोही अर्थात् आकांक्षी श्रेणी आदि।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के तहत सफल और निर्णायक योगदान के लिए सभी शहरो को रैंकिंग की जायेगी औऱ उनके बेहतर प्रदर्शन के  हिसाब से उन्हे उपरोक्त सम्मान से सम्मानित किया जायेगा।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के लाभो का ब्लू-प्रिंट

हम अपने सभी भारतावासियो को, भारत सरकार द्धारा जारी स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 से प्राप्त होने वाले लाभो के ब्लू-प्रिंट के बारे में बताना चाहते हैं जो कि, इस प्रकार से हैं-

  1. स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के भारत की सभी शहरो, कस्बो, गली, मोहल्लो, जिलो, पंचायतो और ब्लॉको को शामिल किया जायेगा,
  2. स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के तहत जो राज्य, शहर या गांव आदि कचरा मुक्त होंगे व खुले में शौच मुक्त होंगे उन्हें प्राथमिकता दी जायेगी व सम्मान भी दिया जायेगा,
  3. स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के तहत लोगो को जल के स्वच्छ व स्वस्थ प्रयोग के बारे में बताया जायेगा, अपशिष्ट जल के सावधानीपूर्वक निस्तारण के बारे में जागरुक किया जायेगा व जल उपचार के तमाम मानदंडो में सुधार किया जायेगा,
  4. स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 की प्राथमिकता के तौर पर ’’ नागरिक सहभागिता ’’ को दर्ज किया गया हैं ताकि नागरिको को उनके दायित्वो-कर्तव्यो से परिचित करवाते हुए उन्हें नवाचारी बनाकर स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 को सफल बनाया जा सकें इसके लिए नवाचार अंको का वितरण किया जायेगा,
  5. भारत सरकार ने स्वच्छ भारत मिशन को पूरी तरह से डिजिटल बना दिया हैं जिसके तहत 15 इन-हाउस औऱ 10- थर्ड पार्टी एप्लिकेशन हैं जिसके तहत स्वच्छ भारत मिशन के लिए भारतवर्ष में चलाये जा रहे हैं,
  6. साल 2018 का स्वच्छता सर्वेक्षण, दुनिया का सबसे बड़ा सर्वेक्षण था जिसमें 4,203 शहरो को शामिल किया गया था आदि।

उपरोक्त स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 के लाभो का ब्लू-प्रिंट हैं जिसके माध्यम से आप इस सर्वेक्षण की व्यापकता का अंदाजा लगा सकते हैं और अपना योगदान देकर इस सर्वेक्षण को भी पहले से भी बड़ी सफलता दे सकते हैं।

स्वस्छ भारत मिशन सर्वेक्षण के पहले के ताजा आकंड़े

हम अपने सभी भारतवासियो को स्वच्छ भारत मिशन के पिछले सालो के कुछ उत्साहवर्धक आकंड़ो के बारे में बताना चाहते हैं जो कि, इस प्रकार से हैं-

  1. हम अपने सभी भारतवासियो को उनके योगदान के लिए धन्यवाद औऱ आगे योगदान करने के लिए निवेदन करना चाहते हैं क्योकि स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 में, कुल 1.87 करोड़ भारतीयो ने, योगदान देकर मिशन को सफल बनाया था,
  2.  स्वच्छ भारत मिशन के तहत 4,237 शहरो को शामिल किया गया और रिकॉर्ड स्तर पर इस सर्वेक्षण को महज 28 दिनो में पूरा किया गया जो कि, एक बड़ी उपलब्धि है।

उपरोक्त आकंड़ो से आप स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 की सफलता का अंदाजा लगा सकते हैं और इस सर्वेक्षण को पहले से भी बडे आकंड़े देकर सफल बना सकते हैं।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के तहत इन आधार पर होगा शहरो को वर्गीकऱण

हम अपने सभी भारतीय पाठको को बताना चाहते हैं कि, भारत सरकार द्धारा जारी स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के तहत 6- सूचक वार प्रदर्शन मानदंडो के आधार पर शहरो को वर्गीकृत किया जायेगा जो कि, इस प्रकार से हैं-

  • शहरो की स्वच्छता की स्थिति के आधार पर,
  • लैंडफिल में, जान वाले कचरे के प्रतिशत के आधार पर,
  • निर्माण कार्य व विध्वंस कार्यो में होने वाले अपशिष्ट प्रसंस्करण के आधार पर,
  • गीले और सूखे कचरे के प्रसंस्करण और पुन-चक्रण की दर के आधार पर,
  • पैदा हुए गीले कचरे के खिलाफ प्रसंस्करण की क्षमता के आधार पर,
  • कचरे को गीला, सूखा और खतरनाक वर्गीकरण की श्रेणियो के आधार पर आदि।

उपरोक्त 6- सूचक वार मानदंडो के आधार पर स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के तहत शहरो का वर्गीकरण किया जायेगा।

FAQ’s

स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 को लेकर आपके Q. और हमारे Ans.

हमे आपकी तरह से स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 को लेकर कुछ Q. मिले हैं जिनका Ans. हमने इस प्रकार से दिया है –

Q- स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 कौ मुख्य मौलिक लक्ष्य क्या हैं?

Ans. – स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 का मुख्य मौलिक लक्ष्य हैं अपशिष्ट जल के निस्तारण को स्वच्छ, स्वस्थ औऱ सावधानीपूर्वक बनाना और इससे संबंधित तमाम मानदंडो में जरुरी सुधार करते हुए जल के संचय और सदुपयोग के प्रति लोगो को जागरुक करना।

Q– स्वच्छ भारत मिशन का ये कौन- सा संस्करण हैं ?

Ans.  स्वच्छ भारत मिशन का ये 6वां संस्करण हैं।

Q- स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 में, कितने भारतीयो ने योगदान दिया था?

Ans. – स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 में, कुल 1.87 करोड़ भारतीयो ने योगदान दिया था।

Q.- स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के तहत कौन- से सम्मान की 5 अन्य उप श्रेणियो को शामिल किया गया हैं?

Ans. – स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के तहत प्रेरक दाऊर सम्मान की 5 अन्य उप श्रेणियो को शामिल किया गया हैं।

Leave a Comment