29 April Ko Kya Hone Wala Hai Video - जानिए क्या होगा 29 अप्रैल 2020 को!

29 April Ko Kya Hone Wala Hai Video – जानिए क्या होगा 29 अप्रैल 2020 को!

29 April 2020 Ko Kya Hone Wala Hai | 29 april 2020 ko kya hoga  Video News/in Hindi/ 29 Aprils Nasa 2020 | 29 अप्रैल 2020 को क्या होने वाला है | 29 april 2020 ko kya hai | 29 april 2020 mein kya hoga | 29 april 2020 ko kya hoga video 

हम जानते हैं कि, हमारे लेख को पढ़ने से पहले ही आप इस विषय के बारे में जान चुके हैं पर फिर भी हम अपने दायित्व को पूरा करेंगे और आपको सही सही जानकारी देने की कोशिश करेंगे कि, आखिर क्या होने वाला हैं 29 अप्रैल, 2020 को?

क्यूं अचनाक खास बन गई हैं 29 अप्रैल की तारिख-

एक तरह पूरे विश्व में कोरोना को लेकर हंगामा मचा हुआ हैं और ऊपर से 29 अप्रैल की खबर ने और भी लोगो को दहशत में डाल रखा हैं पर हम आपको बताने जा रहे हैं कि, आखिर क्यूं अचानक खास बन गई हैं 29 अप्रैल की तारिख ? उसके पीछे की वजह कुछ इस प्रकार हैं-

29 April Ko Kya Hone Wala Hai news

सोशल साइट्स पर अचानक एक वीडियो बड़ी तेजी से फैल रहा हैं जिसके मुताबिक 29 अप्रैल, 2020 को एक हिमालय के जितना ही बड़ा एक क्षुद्रग्रह पृथ्वी से टकराने वाला हैं जिससे पूरी दुनिया को अन्त हो जायेगा और इसी को लेकर लिखा गया हैं ये पूरा स्क्रिप्ट।

अभी इन खबरो पर विश्वास बिलकुल मत कीजिए क्योंकि इससे संबंधित अभी तक कोई भी आधिकारीक घोषणा नहीं की गई हैं।

सोशल साइट्स का गलत प्रयोग-

सोशल साइट्स एक दो धारी तलवार हैं जिसके फायदे भी हैं तो दूसरी तरफ उसके कुछ बेहद खतरनाक नुकसान भी हैं। हम मानते हैं कि, सोशल साइट्स हमारे ज्ञान मे जबरदस्त इजाफा करता हैं और हमे देश-दुनिया के प्रति सजग रखता हैं पर साथ ही साथ ये साइट्स हमें गलत सूचनाओँ की आंधी में फंसी भी देते हैं और गुमराह भी करते हैं और हम सरलता से इन खबरो पर आंख मूदकर विश्वास भी कर लेते हैं जो कि, बिलकुल नहीं करना चाहिए।

किस तरह की हैं ये वीडियों-

“Mularam Bhakar Jaat Osian” और “ अदभुत अनोखा अपराजित ” नाम के लोगो ने यह वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर की है और उस पर लिखा है कि 29 अप्रैल को महाविनाश होगा और दुनिया खत्म हो जाएगी। हालांकि इस बात में एक सच्चाई जरूर है कि हिमालय जितना एक क्षुदग्रह है जिसका नाम “52768 (1998 OR2)” है। यह 29 अप्रैल को पृथ्वी से गुजरेगा लेकिन इसकी दूरी पृथ्वी से करीब 40 लाख मील या 62 लाख किलोमीटर दूर होगी।

क्या कहना हैं नासा का-

                  दरअसल नासा ने इसकी खोज 1998 में की थी इसलिए ही इसका नाम “ 52768 (1998 OR2) ” यह रखा था। बीते लंबे समय से ही नासा इस पर नजर बनाए हुए है। वंही उनका भी यही कहना है कि यह क्षुदग्रह अब तक कई ग्रहो से हो कर गुजरा है और इसकी पृथ्वी से भी दूरी काफी है तो पृथ्वी को क्षुदग्रह से कोई नुकसान नहीं होगा। आपको बता दें कि इससे जुड़े सभी आंकड़े और जानकारी सेंटर फॉर नियर अर्थ ऑब्जेक्ट स्टडीज (CNEOS) की वेबसाइट पर मौजूद हैं। अगर आप चाहें तो इन आंकड़ो को वंहा से देख सकते हैं।   

इसे भी पढ़े: कोरोना वायरस से कैसे बचें

कई एजेंसियो ने किया इस अपनाने से इंकार-

29 अप्रैल,2020 को होने वाली घटना के संबंध में जो भी अटकले लगाई जा रही हैं उनको कुछ एंजेसियो ने ठुकरा दिया हैं जिनकी सूची कुछ इस प्रकार हैं-

  1. CNEOS ने इस खबर की पुष्टि करने से कर दिया हैं इनकार,
  2. “Sentry Impact Risk Page” पर भी नहीं इस क्षुद्रग्रह से संबंधित को भी जानकारी

उपरोक्त एंजेसियो का साफ-साफ मानना हैं कि, इस तरह की किसी भी खबर की औपचारिक तौर पर घोषणा नहीं कि गई हैं साथ ही इस खबर की पुष्टि करने से भी इन एंजेसियों ने किया हैं इंकार।

नहीं होने वाला हैं कुछ

हम आपको बता रहे हैं कि, इस तरह का कुछ भी नहीं होने वाला हैं क्योंकियह क्षुदग्रह पृथ्वी से 1.8 किमी से 4.1 किमी के अनुमानित व्यास वाला है। यह अब तक कई ग्रहो से होकर गुजर चुका है और पृथ्वी से भी इसकी दूरी कोसो दूर ही है। बताया जारहा है कि जब यह पृथ्वी से हो कर गुजरेगा तो इसकी रफ्तार करीब 20000 मील प्रति घंटा की होगी। यह पृथ्वी से कोसो दूर से गुजरेगा जिसस पृथ्वी पर किसी भी तरह का असर नहीं होगा।

हिंदी सरकारी योजना की अपील-

हम अर्थात् सरकारी योजना आप सभी से ये अपील करता हैं कि, इस तरह की  किसी भी गलत सूचना पर बिलकुल भी ध्यान ना दे और ना ही इस सूचना को सोशल साइट्स पर सांक्षा करे।

आप अपने स्तर पर जागरुकता बरते और दूसरो को भी जागरुक बनाए। 

Leave a Comment