Panchvarshiya Yojana Kya Hai - पंचवर्षीय योजना क्या है?

Panchvarshiya Yojana Kya Hai – पंचवर्षीय योजना क्या है?

पंचवर्षीय योजना क्या है?

Panchvarshiya Yojana Kya Hai – हमारा यह आर्टिकल भारत के सतत व समावेशी विकास के लिए चरणबद्ध तरीके से लाये गये पंचवर्षीय योजनाओं पर आधार है और इसीलिए हम आपको विस्तार से इस आर्टिकल में, बतायेगे कि, पंचवर्षीय योजना क्या है?

Panchvarshiya Yojana Kya Hai

देश को कर्ज की स्थिति से निकालकर आत्मनिर्भर बनाने के लिए 5 सालो वाली जिस योजना का निर्माण किया या था उसे ही पंचवर्षीय योजना कहते है जिसका मौलिक लक्ष्य था देश को खाघान्न के क्षेत्र में, आत्मनिर्भर बनाना और भारत का सतत व सर्वांगिंन विकास सुनिश्चित करना।

अन्त, इस आर्टिकल में, हम आपको ना केवल पंचवर्षीय योजनाओं के बारे में बतायेगे बल्कि साल 2022 तक जारी सभी पंचवर्षीय योजनाओँ की एक विस्तृत सूची भी प्रदान करेगे।

योजना का नाम पंचवर्षीय योजना
किस ने लांच की भारत सरकार
लाभार्थी भारत के नागरिक
उद्देश्य देश का विकास करना
आधिकारिक वेबसाइट यहां क्लिक करें
साल 2021

पंचवर्षीय योजना का लक्ष्य का था?

देश को कर्ज की स्थिति से निकालकर आत्मनिर्भर बनाने के लिए 5 सालो वाली जिस योजना का निर्माण किया या था उसे ही पंचवर्षीय योजना कहते है जिसका मौलिक लक्ष्य था देश को खाघान्न के क्षेत्र में, आत्मनिर्भर बनाना और भारत का सतत व सर्वांगिंन विकास सुनिश्चित करना।

पंचवर्षीय योजना का लाभ क्या है?

  1. इस योजना की मदद से देश का व्यवस्थित विकास किया गया,
  2. देश के सभी कमजोर क्षेत्रो की पहचान करके उनका सुधार किया जायेगा,
  3. शिक्षा, रोजगार व स्व – रोजगार हेतु व्यापक कदम उठाये गये,
  4. आम आदमी के जीवन में सुधार किया गया,
  5. Five Year Plans को 9 जुलाई 1951 को भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू द्वारा प्रस्तुत किया गया था
  6. इन पंचवर्षीय योजनाओं के संचालन के लिए 15 मार्च 1950 को भारतीय योजना आयोग का गठन किया गया था
  7. पंचवर्षीय योजनाओं के अंतर्गत कुछ योजनाओं को 5 वर्षों तक चलाया जाता है जिससे कि देश का विकास हो सके और फिर अगले 5 वर्ष के लिए नई योजनाएं बनाई जाती हैं
  8. Five Year Plans के माध्यम से निवेश को भी पढ़ाया जाता है
  9. इन योजनाओं के माध्यम से सामाजिक न्याय, गरीबी हटाना, पुणे रोजगार, आधुनिकरण आदि की तरफ भी ध्यान दिया जाता है
  10. अब तक देश में 13 5 वर्षीय योजनाएं चलाई जा चुकी है
  11. इन पंचवर्षीय योजनाओं का मुख्य उद्देश्य देश की आर्थिक स्थिति में सुधार लाना तथा देशवासियों के जीवनशैली में सुधार लाना भी है
  12. इन योजनाओं के माध्यम से उत्पादन में वृद्धि, संसाधनों का उचित आवंटन तथा हर किसी को रोजगार का अवसर प्रदान करना भी है आदि।

सभी पंजवर्षीय योजनाओं की विस्तृत सूची?

पहली पंचवर्षीय योजना

  • इसका कार्यकाल 1951 से लेकर 1956 तक था,
  • इसमें भारत के कृषि क्षेत्र के मजबूत करके भारत को खाघान्न में आत्मनिर्भर बनाया गया आदि।

इसके मौलिक लक्ष्य

  • खाद्यान्नों के मामले में कम से कम सम्भव अवधि में आत्मनिर्भरता प्राप्त करना
  • मुद्रास्फीति पर नियंत्रण करना।
  • शरणार्थियों का पुनर्वास
  • इसके साथ- साथ इस योजना में सर्वांगीण विकास की प्रक्रिया आरम्भ की गयी, जिससे राष्ट्रीय आय के लगातार बढ़ने का आश्वासन दिया जा सके
  • इस योजना के अंतर्गत कृषि को प्राथमिकता दी गयी आदि।

दूसरी पंचवर्षीय योजना

  • इसका कार्यकाल 1956 से लेकर 1961 तक था,
  • इसके अन्तर्गत उद्योग क्षेत्र को विकसित बनाया गया व भारत में, उत्पादन को बढ़ावा दिया गया आदि।

इसके मौलिक उद्धेश्य

  • इस योजना के अंतर्गत उद्योग की प्राथमिकता दी गयी थी ।
  • इस योजना के अंतर्गत देश में उत्पादकों के घरेलु उत्पादन को प्रत्साहित किया गया था ।
  • योजना एक बंद अर्थव्यवस्था है जिसमें मुख्य व्यापारिक गतिविधि आयात पूंजीगत वस्तुओं पर केंद्रित होगा ।
  • इस योजना के दौरान इस्पात के तीन बड़े कारखाने खोले गए – भिलाई, दुर्गापुर, राउरकेला का निर्माण किया गया ।

तीसरी पंचवर्षीय योजना

  • इसका कार्यकाल 1961 से लेकर 1966 तक था,
  • इसमें कृषि व गेहूं के उत्पादन पर जोर दिया गया था।

इसके मौलिक लक्ष्य

  • इस योजना के अंतर्गत कृषि और उद्योग को प्राथमिकता दी गयी ।
  • तृतीय पंचवर्षीय योजना का उद्देश्य अर्थव्यवस्था को आत्मनिर्भर बनाना तथा विदेशो में भी निर्यात करना ।
  • इस योजना के अंतर्गत ही नए उद्योग का विस्तार किया गया जैसे की सीमेंट, रासयनिक खाद्य आदि की व्यवस्था की गयी,
  • घरेलू उत्पाद (सकल घरेलू उत्पाद) का लक्ष्य विकास दर 5.6 प्रतिशत प्राप्त करना था। हासिल वृद्धि दर 2.84 प्रतिशत थी आदि।

चौथी पंचवर्षीय योजना

  • इसके कार्यकाल 1969 से लेकर 1974 के बीच था और
  • भारत के 14 प्रमुख बैंको का राष्ट्रीयकरण किया गया था।

इसके मौलिक लक्ष्य

  • इस योजना के अंतर्गत आर्थिक विकास को प्राथमिकता दी गयी ।
  • स्थिरता के साथ आर्थिक विकास तथा
  • आत्मनिर्भरता की अधिकाधिक प्राप्ति
  • चौथी पंचवर्षीय योजना में विकास लक्ष्य दर 5.7% रखा गया तथा वास्तविकता में केवल 3.3% ही प्राप्त कर सके।

पांचवी पंचवर्षीय योजना

  • इसका कार्यकाल 1974 से लेकर 1979 के बीच था और
  • इसमें क्षेत्रीय ग्रामीण बैंको की स्थापना पर बल दिया गया था आदि।

छठी पंचवर्षीय योजना

  • इसका कार्यकाल 1980 से लेकर 1985 तक निर्धारित था,
  • इसमें गरीबी को खत्म करके रोजगार सृजन पर जोर दिया गया था।

इसके मौलिक लक्ष्य

  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश से गरीबी का निवारण करना और  आर्थिक विकास , आधुनिकीकरण, तथा सामाजिक न्याय स्थापित करना था ।
  • इस योजना के तहत मुद्रास्फीर्ति 16.7% से घटकर 5% ही रह गयी आदि।

सांतवी पंचवर्षीय योजना

  • इसका कार्यकाल 1985 से लेकर 1990 के बीच था और
  • रोजगार के बेहतर अवसरो के सृजन पर जोर दिया गया था।

लक्ष्य

  • देश से गरीबी को कम करना
  • और उत्पादन को बढ़ावा देना ।
  • समाज सवेाओं में उन्नति करना।
  • ग्रामीण क्षेत्रो को उन्नति की ओर ले जाना ।

आठवीं Panchvarshiya Yojana Kya Hai

  • इसकी अवधि 1992 से लेकर 1997 तक निर्धारित थी,
  • इसमें सामाजिक विकास के पहलूओं जैसे कि – शिक्षा, रोजगार, गरीबी उन्मूलन आदि पर जोर दिया गया था।य़

लक्ष्य

  • 15 से 35 वर्ष की आयु समूह के लोगों के बीच निरक्षरता उन्मूलन तथा प्राथमिक शिक्षा का सार्वभौमिकरण।
  • शताब्दी के अतं तक पूर्ण रोजगार प्राप्त करना।
  • इस योजना के अंतर्गत ऊर्जा, परिवहन, संचार, तथा सिंचाई को मजबूत करना है ।

नौवी पंचवर्षीय योजना

  • इसका कार्यकाल 1997 से लेकर 2002 तक था और
  • इसमें औद्योगीकरण, मानव विकास, पूर्ण पैमाने पर रोजगार, गरीबी में कमी और घरेलू संसाधनों पर आत्मनिर्भरता जैसे पहलूओं के विकास पर जोर दिया गया था।

लक्ष्य

  • 9th Five Year Plan का मुख्य उद्देश्य सामाजिक न्याय तथा आर्थिक संवृद्धि को  प्राप्त करना इस लक्ष्य को पाने के लिए रोजगार, आत्मनिर्भरता, और क्षेत्रीय संतुलन जैसे क्षेत्रों पर बल दिया जाना ।
  • नौवी योजना में कृषि क्षेत्र में वृद्धि दर के 3।9 प्रतिशत के लक्ष्य के विरूद्ध वास्तविक उपलब्धि केवल 2।1 प्रतिशत रही ।
  • प्राकृतिक संसाधनों का उचित तरीके से उपयोग करना तथा पूर्ण रूप से सरंक्षण करना ।

दसवीं पंचवर्षीय योजना

  • इसकी अवधि 2002 से लेकर 2007 तक थी,
  • इसमें श्रम शक्ति व उच्च गुणवत्ता वाले रोजगार पर जोर दिया गया था।

लक्ष्य

  • इस योजना के अंतर्गत देश के अविकसित क्षेत्रो में रोजगार के आवास उपलब्ध कराये गए थे ।
  • 10th Five Year Plans  में सबसे ज़्यादा बल कृषि पर दिया गया तथा सबसे ज़्यादा खर्च ऊर्जा पर किया गया ।
  • वर्ष 2007 तक प्राथमिक शिक्षा की पहुँच को सर्वव्यापी बनाना |

ग्यारहवीं पंचवर्षीय योजना

  • इसकी अवधि 2007 से लेकर 2012 तक थी,
  • इसका मौलिक लक्ष्य शीघ्र व समावेशी विकास सुनिश्चित करना था।
  • योजना आयोग द्वारा राज्य की Five Year Plans का कुल बजट 71731।98 करोड रुपये अनुमोदित किया गया है।कृषि में 4% उद्यागे एवं सेवाओं में 9-11% की प्रतिवर्ष वृद्धि के लक्ष्य को प्राप्त करना। ग्रामीण क्षेत्र में निर्धनता से नीचे रहने वाले लोगो को बिजली पहुंचना ।

बारहवीं पंचवर्षीय योजना

  • इसका कार्यकाल 2012 से लेकर 2017 तक था,
  • इस योजना की शुरुआत 1 अप्रैल, 2012 को की गई थी,
  • 12वीं पंचवर्षीय योजना में सालाना 10 फीसदी की आर्थिक विकास दर हासिल करने का उद्देश्यरखा है,
  • वैश्विक आर्थिक संकट का असर भारतीय अर्थव्यवस्था पर भी पड़ा है,
  • 12वीं Five Year Plans के अंतर्गत आर्थिक क्षेत्रक में कृषि, उद्योग, ऊर्जा, परिवहन, संचार, ग्रामीण विकास एवं शहरी विकास को शामिल किया गया तथा सामाजिक क्षेत्रक में स्वास्थ्य, शिक्षा, रोज़गारऔर कौशल विकास, महिला अभिकरण, बाल अधिकार एवं सामाजिक समावेशन को शामिल किया गया,
  • 2th Five Year Plans में सालाना विकास दर के आंकड़े को 2 प्रतिशत रखा गया है।

तेरहवीं Panchvarshiya Yojana Kya Hai

  • इसका कार्यकाल 2017 से लेकर 2022 तक है,
  • इस योजना के अंतर्गत संसाधनों पुस्तकें, क्लास रूम आदि को दुरुस्त किया जाएगा और रेमिडियल क्लासेज के तहत अनुसूचित जाति , अनुसूचित जन जाति व अन्य पिछड़े वर्ग के कमजोर विद्यार्थियों को अलग से पढ़ाया जाएगा,
  • राष्ट्रीय व राज्य स्तरीय पात्रता परीक्षा, सिविल सर्विसेज व अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों को गाइडेंस दी जाएगी,
  • विषय-विशेषज्ञों को बुलाया जाएगा
  • कॅरियर काउंसलिंग के लिए भी अलग से बजट मिलेगा।

अन्त, इस प्रकार हमने आपको विस्तार से अभी तक की सभी पंचवर्षीय योजनाओं के बारे में बताया।

आशा करते हैं हमारे द्वारा बताई गई Panchvarshiya Yojana Kya Hai की जानकारी आपको लाभदायक साबित हुई होगी इसी प्रकार की और जानकारी के लिए आप हमसे ऐसे ही जुड़े रहिये और अपनी राय हमें कमेंट करके ज़रूर बताइये इससे हमें भविष्य में और बेहतर कंटेंट लाने में सहायता मिलती है , आप हमें Facebook पर भी फॉलो कर सकते हैं , धंन्यवाद। 

Leave a Comment