यूपी विवाह अनुदान योजना 2022 |UP Shadi Anudan Yojana | ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

यूपी विवाह अनुदान 2022

यूपी विवाह अनुदान योजना 2022 । ऑनलाइन अप्लाई उत्तर प्रदेश विवाह अनुदान योजना 2022 । up vivah anudan 2022। shadi anudan pfms। shadi online registration। swd.up.nic.in 2022 । shadi anudan form in pdf।

UP सरकार ने, राज्य की गरीबी व पिछड़े परिवार की बेटियों की धूमधाम से शादी के लिए अति कल्याणकारी योजना यूपी  विवाह अनुदाय योजन 2022 को जारी कर दिया है जिसके तहत लाभार्थी बेटियों की शादी के लिए उन्हें 20,000 रुपयों की आर्थिक सहायता और यदि एक परिवार में, 2 बेटियां हैं तो उन्हें कुल 40,000 रुपयों की वित्तीय मदद की जायेगी।

यू.पी विवाह अनुदान योजना 2022 में, आवेदन करने के लिए सबसे पहले हमारे आवेदको को  ( दिशा – निर्देश ) के अनुसार ही आवेदन करना होगा ताकि इस योजना का लाभ राज्य की सभी बेटियों को मिले और वे बिना आर्थिक चिन्ताओँ व समस्याओं से समझौत किये अपने नये जीवन की सकारात्मक शुरुआत कर सकें

यूपी विवाह अनुदाय योजना 2022

अन्त, हम, अपने इस लेख में, राज्य के अपनी बेटियों व अभिभावको को यू.पी विवाह अनुदाय योजना 2022– आवेदन की जानकारी, विवाह अनुदान योजना 2021 – सुधार प्रक्रिया, उत्तर प्रदेश विवाह अनुदान योजना – आवेदन का स्टेट्स देखने की जानकारी, आवेदन पत्र का प्रिंट – आउट प्राप्त करने की जानकारी और योजना के तहत जारी हेल्पलाइन नंबर 1800 4190 001 की पूरी जानकारी प्रदान करेंगे ताकि हमारी बेटियों को इस योजना का पूरा लाभ मिल सकें

यूपी विवाह अनुदाय योजना 2022

यूपी विवाह अनुदान 2022 – Online Registration

योजना का नाम यू.पी विवाह अनुदान योजना 
योजना के पहलकर्ता उत्तर प्रदेश की योगी सरकार।
योजना का मौलिक उद्धेश्य राज्य में, सभी बेटियो की शादी धूम-धाम से करना और सभी बेटियो के उज्जवल भविष्य के निर्माण में, योगदान देना।
योजना के लाभार्थी योजना के तहत उत्तर प्रदेश के सभी योग्य बेटियां।
योजना के केद्रीय बिंदु राज्य में, बेटियो को सशक्तिकऱण करना और बेटियो की शिक्षा, पालन-पोषण और बेटियो के विकास को बढावा देना।
योजना में, आवेदन की स्थिति योजना में, ऑनलाइन आवेदन जारी हैं।
योजना से संबंधित सभी लिंक योजना के तहत जारी आधिकारीक वेबसाइट का लिंक –

http://www.shadianudan.upsdc.gov.in/।

योजना के तहत दी जाने वाली आर्थिक सहायता योजना के तहत परिवार मे, एक बेटी होने पर 20,000 रुपयो की व दो बेटी होने पर 40,000 रुपयो की आर्थिक सहायता की जायेगी।

यूपी विवाह अनुदान योजना 2022 – पृष्टभूमि

पृष्टभूमि पर अगर नजर डाली जाए तो हम पाते हैं कि, इससे पहले बेटिया के जन्म की स्थिति ही बेहद दयनीय और चिन्ताजनक होती थी और शादी तो दूर की बात हैं।

घर में जैसे ही बेटी अपने पैर रखती थी कि, बस सभी के चेहरो का रंग उड जाता था और वे बेटी को एक बोझ मानते थे जो कि, उनके सिर पर आ पड़ा हैं। इसी बोझ-भाव के चलते वे अपनी बेटियों को शिक्षा तो दूर उन्हें सही तरह से खाना-पिना नहीं देते, उनसे हमेशा काम करवाया जाता था और उन्हें अन्य बच्चो के साथ खेलने तो बिलकुल नहीं दिया जाता था।

अन्त हम कह सकते हैं कि, उन्हें पैदा होते ही एक ऐसी स्त्री बना दिया जाता था जिसका कोई भविष्य नहीं। ऐसे में हम सोच सकते हैं कि, शादी या ब्याह के समय हमारी बेटियों की क्या स्थिति होती होगी।

यू.पी विवाह अनुदान योजना – मौलिक लक्ष्य

हम, अपने सभी उत्तर प्रदेशवासी अभिभावको को इस योजना के मौलिक लक्ष्यो के बारे मे, बताना चाहते हैं जो कि, इस प्रकार से हैं-

  1. राज्य में, बेटी को फैली दुषित विचारधारा को बदलकर ’’ बोझ नहीं बल्कि नई सोच हैं बेटी ’’ की विचारधारा को स्थापित करना,
  2. राज्य की सभी बेटियो का सशक्तिकरण करना और अभिभावको बेटी की शादी के लिए साहूकारो के चंगुल से बचाना,
  3. बेटी की शादी धूम-धाम से हो इसके लिए आर्थिक सहायता देना और साथ ही बेटी के इच्छानुसार शादि पर बल देना,
  4. रुपयो की अभाव में, बेटी का हाथ किसी अधेड़ उम्र के व्यक्ति के हाथो में, देने से रोकना और
  5. योजना के तहत हमारी सभी बेटियो के उज्जवल और खुशहाल भविष्य का निर्माण करना आदि।

उपरोक्त सभी मौलिक लक्ष्यो की पूर्ति इस योजना के तहत की जायेगी जिससे राज्य की सभी बेटियो व अभिभावको का विकास होगा।

 

Read: {List} विवाह अनुदान लिस्ट 2022

एक संक्षिप्त परिचय-

इस खंड में हम आपको इस योजना की संक्षिप्त जानकारी प्रस्तुत कर रहे हैं जो कि, इस प्रकार हैं-

इस योजना का शुभारम्भ पहले,’’ शादी-बीमारी योजना ’’ का नाम दिया गया था परन्तु 2014-15 के बजट में कुछ अन्य वजहो से इस बंद कर दिया गया था।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अनुसूचित जाति और जनजाति की लड़कीयों की शादी के लिए ’’ अनुदान योजना ’’ को ’’ सामूहिक विवाह योजना ’’ के नाम से शुरु करने का विचार हैं। इस योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे की लड़कियों की शादी दहेज- रहित की जायेगी।

इस योजना का मुख्य उद्धेश्य हमारी बेटियों के प्रति फैली गलत घारणाओं को खत्म करते हुए एक सकारात्मक बदलाव लाना था।

बेटियों का सशक्तिकरण-

इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश की बेटियों का सशक्तिकरण किया गया हैं क्योंकि अब उन्हें और खासकर उनके पहले से ही कर्ज से दबे माता-पिता को अब अपनी बेटी की शादी कि चिन्ता नहीं करनी पड़ेगी क्योकि इसके लिए उत्तर प्रदेश की सरकार द्धारा उन्हें सहायता अनुदान के तौर पर राशि मुहैया कराई जायेगी जिससे वे अपनी बेटी की शादी बिना किसी कर्ज के कर पायेगे।

Read:{Registration} Unnat Bharat Abhiyan Yojana 2022

माता-पिता कर रहे हैं इस योजना का स्वागत-

इस योजना की लोकप्रियता जग-जाहीर हैं क्योंकि उत्तर प्रदेश के हम माता-पिता जिनके घर एक लक्ष्मी रुपी बेटी का जन्म हुआ हैं वे अपनी बेटी की शादी-ब्याह के चिन्ता से मुक्त हो गये हैं। इस योजना के द्धारा वे अपनी बेटियों को बेहतर शिक्षा, रहन-सहन और जीवन में कुछ करने के लिए प्रेरित कर रहे हैं।

अब उन्हें अपनी बेटी के शादी की चिन्ता नहीं करनी पड़ेगी क्योंकि अब आपकी बेटियों के शादी-ब्याह का पूरा जिम्मा उत्तर प्रदेश सरकार ने ले लिया हैं।

बोझ नहीं, नई सोच हैं बेटी-

इस योजना की सबसे बडी सफलता यही हैं कि, इस योजना ने बेटियों को बोझ के भाव से मुक्त कर उन्हें एक नई सोच का दर्जा दिया हैं जिसकी वजह से हमारी बेटियां भी आकाश की बुलदियों को छू सकेगी।

वही हमारे माता-पिता भी अपनी बेटियों की शादी-ब्याह के चिन्ता से मुक्त हुए हैं जिसके कारण वे अब घर में बेटी के आने पर दुखी या चिन्तित नहीं बल्कि खुशी प्रकट करते हैं जो कि, एक सकारात्मक बदलाव हैं जिसका हमें स्वागत करना चाहिए।

यूपी विवाह अनुदान योजना 2022-  लाभ

इस योजना के कुछ मूलभूत लाभों को इस तरह से प्रस्तुत किया जा सकता हैं जो कि, इस प्रकार हैं-

  1. बोझ नहीं, नई सोच हैं बेटी जैसे क्रान्तिकारी बदलाव आया,
  2. माता-पिता आर्थिक कारणों से अपनी बेटी के शादी-ब्याह को बोझ नहीं समझेगे,
  3. पैसो की कमी के कारण या फिर दहेज के कारण हमारी बेटियो की शादी किसी बुजुर्ग व्यक्ति से नहीं कि जायेगी,
  4. हमारी बेटी अपनी पंसद से अपने वर का चुनाव कर पायेगी,
  5. आर्थिक कारणों से हमारी बेटी सौदे की वस्तु नहीं बनेगी आदि,
  6. आर्थिक सहायता के तौर पर 20,000 रु की सौगात दी जायेगी,
  7. जिन परिवारो में दो बेटियां होगी उन्हें सहायता के तौर पर 40,000 रुपयो की आर्थिक सहायता दी जायेगी,
  8. इन रुपयो को सीधा लाभार्थी के बैंक खातों में जमा किया जायेगा आदि।

उपरोक्त और भी कई लाभ हैं पर हमने कुछ मूलभूत लाभो का वर्णन किया हैं।

Read: {आवेदन} बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना 2022

किन आधारो पर तय होगी आपकी पात्रता-

आपकी पात्रता को तय करने के लिए कुछ मानदंड़ो तो तय किया गया हैं जिस पर आपकी पात्रता तय जायेगी जो कि, इस प्रकार हैं-

  1. योजना के इच्छुक लोगो को उत्तर प्रदेश का मूल-निवासी होना चाहिए,
  2. गरीबी रेखा से नीचे के हर श्रेणी के लोग इस योजना के पात्र होंगे,
  3. इस योजना के इच्छुक लोगो की वार्षिक आय ग्रामीण अंचल में 46,080 रु हो चाहिए वहं शहरी क्षेत्रो में 56,460 रु से कम होनी चाहिए,
  4. इस योजना का लाभ उन परिवारो को मिलेगा जिन परिवारों में 2 बेटियां हैं,

उपरोक्त आधारो पर आपकी पात्रता को तय किया जायेगा कि, आप इस योजना के पात्र या योग्य हैं या नहीं।

यूपी विवाह अनुदान योजना 2022 – आवेदन के लिए इन कागजातो की मांग की जा सकती हैं-

इस योजना में आवेदन करने के लिए आपसे जिन कागजातों की मांग कि जाती हैं उनकी सूची कुछ इस प्रकार हैं-

  1. पास-पोर्ट आकार की एक तस्वीर, पुरानी ना हो,
  2. आवेदक के पास आधार कार्ड होना चाहिए,
  3. आवेदक के पास अपनी जाति को प्रमाणित करने के लिए जाति प्रमाण-पत्र होना चाहिए,
  4. आय प्रमाण पत्र होना चाहिए,
  5. बेटी की आयु को प्रमाणित करने के लिए आयु प्रमाण पत्र होना चाहिए,
  6. आवेदक का बैंक खाता होना चाहिए और साथ ही आवेदक की शादी का प्रमाण पत्र होना चाहिए आदि।

उपरोक्त कागजातों की जरुरत पड़ सकती हैं जब आप इस योजना के तहत आवेदन करते हैं।

ऑनलाईन आवेदन की पूरी प्रक्रिया हैं इस प्रकार-

इस योजना में आवेदन की पूरी प्रक्रिया को ऑनलाईन रखा गया हैं जिसे पूरा करने के लिए आपको इन चरणों का पालन करना होगा जो कि, इस प्रकार हैं-

  1. सबसे पहले आपको इसकी आधिकारीक वेबसाइट पर जाना होगा जो कि, इस प्रकार हैं- http://www.shadianudan.upsdc.gov.in/,
  2. उपरोक्त लिंक पर क्लिक करने के बाद खुलने वाले अगले पेज पर आपको ’’ विवाह के लिए आर्थिक अनुदान सहायता ’’ का विकल्प मिलेगा, जिसे आपको क्लिक करना हैं,
  3. इसके बाद श्रेणियो की एक सूची आयेगी जिसमें से आपको अपनी श्रेणी का चयन करना होगा,
  4. इसके बाद एक आवेदन फॉर्म खुलेगा जिसे आपको बेहद सावधानीपूर्वक भरना होगा,
  5. फॉर्म भरने के बाद आप उसे सबमिट कर दें और उसकी एक नकल अपने पास रख लें।

उपरोक्त चरणो को पूरा करने के बाद आपके आवेदन को जमा कर लिया जायेगा। ये पूरी प्रक्रिया बेहद सरल हैं।

अन्त, इस योजना ने हमारी बेटियों को एक नई जिन्दगी दी हैं जिसमें उन्हें बोझ नहीं बल्कि नई सोच के तौर पर देखा जा रहा हैं।

इसे भी पढ़े…

हरयाणा योजना बिहार योजना
मध्य प्रदेश योजना मध्य प्रदेश योजना
पंजाब योजना उत्तर प्रदेश योजना
मुख्यमंत्री योजना राशन कार्ड सूची
तमिलनाडु योजना आंध्र प्रदेश योजना
बंगाल योजना दिल्ली योजना
हिमाचल प्रदेश योजना गुजरात योजना

 

Leave a Comment