{आवेदन} उत्तराखंड मुख्यमंत्री घासियारी कल्याण योजना 2022 - ऑनलाइन आवेदन

{आवेदन} उत्तराखंड मुख्यमंत्री घासियारी कल्याण योजना 2022 – ऑनलाइन आवेदन

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घासियारी कल्याण योजना 2022

Mukhyamantri Ghasiyari Kalyan Yojana 2022 ।। Mukhaymantri Ghasiyari Kalyan Yojana 2022 – Online Registration ।। यू.के घासियारी कल्याण योजना 2022 – ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया क्या है? ।। 

Introduction

ना जा – ना जा तौं भेळूपखाण, जिदेरी घसेरी बोल्यूं माण के मौलिक व दूरगामी सिद्धान्त पर कार्य करते हुए उत्तराखंड की त्रिवेंद्र रावत सरकार ने, आधिकारीक तौर पर उत्तराखंड मुख्यमंत्री घासियारी कल्याण योजना 2022 की शुरुआत कर दी है जिसके तहत ना केवल उन्हें घास / चारे के लिए जंगलो में, भटकने से रोका जायेगा बल्कि साथ ही साथ उनका व उनके पशुओँ का स्वास्थ्य वर्द्धन करके उनका सतत विकास किया जायेगा।

इस Mukhaymantri Ghasiyari Kalyan Yojana 2022 के तहत जारी न्यू अपडेट के तहत जल्द ही राज्य सरकार राज्य के सभी पशु पालको व महिलाओं को 3 रुपय प्रति किलोग्राम की दर से पशु चारा प्रदान करने पर विचार कर रही है जिसके लिए सरकार ने, राज्य में, कुल 7,771 केंद्रो का निर्माण भी शुरु कर दिया है।

अन्त, हम, अपने इस लेख में, आपको Mukhaymantri Ghasiyari Kalyan Yojana 2021 – Online Registration व यू.के घासियारी कल्याण योजना 2022 – ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया क्या है? के बारे में, विस्तार से बतायेगे ताकि हमारी सभी महिलायें, किसान व पशु – पालक इस योजना का पूरा – पूरा लाभ प्राप्त कर सकें।

उत्तराखंड सरकार की नई योजना उत्तराखंड मुख्यमंत्री घासियारी कल्याण योजना 2022
योजना की शुरुआत किसने और कब की? उत्तराखंड मुख्यमंत्री श्री. त्रिवेंद्र रावत द्धारा 25 फरवरी, 2021 को शुरु किया गया।
योजना का केंद्रीय उद्धेश्य राज्य की महिलाओं को चारा या घास लेने के लिए जंगलो में, भटकने से रोकना और उनका सतत विकास करना।
इन्हें मिलेगा योजना का लाभ राज्य की सभी घास लेने वाली महिलाओं, किसानो और साथ ही साथ पशु धन रखने वाले पशु पालको को इस योजना का लाभ प्रदान किया जायेगा।
योजना के तहत जारी न्यू अपडेट योजना के तहत जल्द ही सरकार पशु चारे को सिर्फ 3 रुपय प्रति किलो ग्राम की दर से प्रदान करने की योजना पर विचार कर रही है।
योजना के तहत जारी आधिकारीक वेबसाइट का लिंक यहां क्लिक करें
योजना के तहत जारी हेल्पलाइन नंबर / सम्पर्क सूत्र 0135 – 2662971 पर सम्पर्क कर सकते है।

 

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घासियारी कल्याण योजना 2022 व इसके लक्ष्य क्या है?

उत्तराखंड सरकार द्धारा 25 फरवरी, 2021 को इस योजना को शुरु किया गया जिसके एकमात्र लक्ष्य राज्य की महिलाओं को घास के लिए जंगल – जंगल भटकने से रोकना है और साथ ही साथ उनके पशु धन के लिए सस्ती व सब्सिडी दरो पर पशु – चारा प्रदान करना है जिसके लिए राज्य में, कल 7,771 केंद्रो की स्थापना की गई है ताकि राज्य के पशु धन में, वृद्धि के साथ – साथ महिलाओं, किसानो व पशु – पालको का सतत व सर्वांगिन विकास संभव हो सकें।

जहां तक इस योजना के लक्ष्य है बात है तो यहीं कहा जा सकता है कि, राज्य सरकार द्धारा इस उत्तराखंड मुख्यमंत्री घासियारी कल्याण योजना 2021 के तहत मूलत राज्य के जंगलो में घास के लिए भटकने वाली महिलाओं को इस प्रक्रिया से मुक्ति देना है और उनका व उनके पशु धन का सम्पूर्ण विकास करके उनके उज्जवल भविष्य का निर्माण करना है।

{आवेदन} उत्तराखंड मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना 2022

Mukhaymantri Ghasiyari Kalyan Yojana – कैबिनेट मंजूरी में, खास क्या है?

यहां हम, आपको बता दें कि, राज्य सरकार द्धारा इस Mukhaymantri Ghasiyari Kalyan Yojana  को राज्य के कैबिनेट में, मंजूरी दे दी है जिसके सभी प्रमुख बिंदु इस प्रकार से है –

  1. उत्तराखंड की कैबिनेट ने, जिसके प्रमुख राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जी है के द्धारा 25 फरवरी, 2021 को मंजूरी दे दी गई है,
  2. इस मंजूरी के बाद कैबिनेट द्धारा किसी भी प्रकार की मीडिया ब्रीफिंग नहीं की गई है,
  3. योजना के तहत कैबिनेट ने, रोजगार व बेरोजगारी के कारण राज्य में बढ़ती पलायन प्रवृत्ति के कारण होने वाली आर्थिक हानियो को समाप्त करने के लिए सख्त कदम उठाने पर जोर दिया है,
  4. Mukhaymantri Ghasiyari Kalyan Yojana 2022 के तहत राज्य सरकार ने, अगले वित्तीय वर्ष के लिए लगभग 16.78 करोड़ रुपयो की मंजूरी दी है,
  5. राज्य सरकार इस योजना के तहत सिर्फ 3 रुपय प्रति किलो ग्राम की दर से पशु चारा प्रदान करने का है ताकि राज्य में, पशु धन की वृद्धि हो सकें और साथ ही साथ पशु – पालको व किसानो को सतत विकास हो सकें आदि।

उपरोक्त सभी बिंदु कैबिनेट द्धारा लिये गये है जिन्हें हमने आपके समक्ष प्रस्तुत किया है ताकि आप इस योजना की पूरी जानकारी प्राप्त कर सकें।

[portal] e-District Uttarakhand 2022 – Login & Registration

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घासियारी कल्याण योजना 2022 – आर्कषक बिंदु क्या है?

इस योजना के सभी प्रमुख विशेष बिंदु इस प्रकार सै है –

  1. इस योजना के तहत राज्य के सभी पशु – पालको को सब्सिडी दरो पर पशु चारा प्रदान किया जायेगा जिसकी वजह से हमारी महिलाओं को घास या फिर चारे के लिए जंगलो में, नहीं भटकना पड़ेगा,
  2. यातायात की अपर्याप्त सुविधा को देखते हुए राज्य सरकार द्धारा इस उत्तराखंड मुख्यमंत्री घासियारी कल्याण योजना के तहत सभी पशु पालको को उनके घरो पर ही सील बंद चारा, मिश्रित राशन और साथ ही साथ टी.एम.आर प्रदान किया जायेगा,
  3. उत्तराखंड मुख्यमंत्री घासियारी कल्याण योजना 2022 के तहत प्राप्त सब्सिडी दरो उन्नत व पौष्टिक पशु चारे से हमारे सभी पशु धन का स्वास्थ्य वर्द्धन होगा और
  4. साथ ही साथ राज्य के लगभग 2,000 से अधिक किसानो को उसकी 2,000 एकड़ वाली मक्के की सहकारी खेती से जोड़ा जायेगा जिससे हमारे सभी किसानो का आर्थिक सशक्तिकरण भी होगा आदि।

उपरोक्त सभी बिंदु, इस योजना के मौलिक व विशेष बिंदु है जिन्हें हमने आपके समक्ष प्रस्तुत किया है ताकि आप सभी इस योजना में, आवेदन करके इसका पूरा – पूरा लाभ प्राप्त कर सकें।

Mukhaymantri Ghasiyari Kalyan Yojana  – मौलिक लाभ कौन – कौन से है?

उत्तराखंड की अपनी सभी महिलाओं को हम, Mukhaymantri Ghasiyari Kalyan Yojana  के तहत मिलने वाले लाभो के बारे में, सूचित करना चाहते है जो कि, इस प्रकार से हैं –

  1. राज्य की महिलाओं का सतत व सर्वांगिन विकास किया जायेगा,
  2. Mukhaymantri Ghasiyari Kalyan Yojana की मदद से 7,771 केंद्रो पर राज्य के पर्वतीय व सुदुर क्षेत्रो के पशुओं के लिए चारे की आपूर्ति की जायेगी,
  3. चारा या घास के लिए जंगल – जंगल भटकने वाली महिलाओं की सभी समस्याओं का समाधान किया जायेगा,
  4. उत्तराखंड की हमारे सभी मातायें या हाल ही बनी मातायें जिन्हें घास या चारे की वजह से अपनो बच्चो को छोड़ जंगलो में, भटकना पड़ता था उन्हें इस योजना की मदद से मुक्ति मिलेगी और हमारे मातायें अपने बच्चो का लालन – पालन पर्याप्त तरीके से कर पायेगी,
  5. घास एकत्रित करने या चारा लेने के दौरान कई बास खतरनाक परिस्थितियों का भी सामना करना पड़ता है जिसकी समाप्ति करके महिलाओं को सुरक्षित व संरक्षित किया जायेगा और
  6. साथ ही साथ महिलाओं को पूर्ण विकास को देखते हुए सभी पर्यावरणीय दुष्परिणामों को कम से कम करने का प्रयास किया जायेगा ताकि हमारे महिलाओं को ज्यादा परेशानियों का सामना ना करना पड़ें आदि।

उपरोक्त सभी मौलिक लाभो की प्राप्ति हमारी राज्य की सभी घास या चारा संग्रह करने वाली महिलाओं को प्रदान किया जायेगा जिससे उनका सर्वांगिन विकास होगा।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घासियारी कल्याण योजना  – घास लेने वाली महिलाओं की परेशानी हुई दूर

हम, अपनी सभी उत्तराखंड की घास के लिए जंगल – जंगल भटकने वाली सभी महिलाओं को राज्य सरकार द्धारा जारी खुशखबरी देना चाहते है जिसके तहत राज्य सरकार ने, उत्तराखंड मुख्यमंत्री घासियारी कल्याण योजना  का शुभारम्भ कर दिया है जिसके तहत घास के लिए भटकने वाली महिलाओं का विकास होगा बल्कि उनका सामाजिक व आर्थिक विकास भी होगा।

 

Leave a Comment