(PMMSY) प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना 2022 | ऑनलाइन आवेदन

(PMMSY) प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना 2022 | ऑनलाइन आवेदन

प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना 2022

प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना 2022 प्राकृतिक आपदा पीड़ितों, मछुआरों और कृषि करने वाले किसानों के सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए भारत सरकार द्वारा आधिकारिक तौर पर पीएम मत्स्य संपदा योजना 2022 शुरू की गई है। जिसका मूल लक्ष्य वर्ष 2022 तक कुल 15 मिलियन टन मछली का उत्पादन करना है ताकि इस क्षेत्र और क्षेत्र से जुड़े सभी लोगों का आर्थिक विकास किया जा सके।

प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना 2022 के तहत ना केवल मछली उत्पादन को बढ़ावा दिया जायेगा, मत्स्य प्रबंधन व नियामक संस्था की स्थापना की जायेगी, टेक्नोलॉजी इन्फ्यूजन का प्रयोग किया जायेगा, Infrastructure and Harvest Management के साथ ही साथ समाज के हाशिये पर जीवन जीने वाले मछुआरें का भी सतत सामाजिक – आर्थिक विकास किया जायेगा और इसी के लिए प्रमुखता से इसके सफल संचालन के लिए 7,522 करोड़ रुपयो का बजट जारी किया गया है।

अन्त, हम, अपने इस लेख में, आपको pradhan mantri matsya sampada yojana online apply, pradhan mantri matsya sampada yojana registration, pradhan mantri matsya sampada yojana official website, pradhan mantri matsya sampada yojana application form और प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना 2021 – आवेदन प्रक्रिया क्या है? की पूरी जानकारी प्रदान करेंगे ताकि हमारे सभी मछुआरे व जलीय क्षेत्र में, कृषि करने वाले भाई – बहन आसानी से आवेदन कर सकें और योजना का लाभ प्राप्त कर सकें।

दोस्तों अपनी तरह की यह इकलौती योजना आई है जो मछुवारों के  लिए खास तौर पर चलाई गई है।  

प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना 2020 2

केन्द्रीय बजट 2019 में मछली पालन करने वाले एवं जलीय क्षेत्र में काम करने वाले लोगों के लिए एक योजना को शुरू करने की घोषणा की गई थी। तो आइए दोस्तों अब इसके बारे में पूरी जानकारी लेते हैं। हमने आपको इस लेख के माध्यम से इसके बारे में डिटेल से पूरी जानकारी दी है तो कृपया इस लेख को ध्यानपूर्वक आखिर तक पढ़िए। 

मत्स्य सम्पदा योजना  विशेषताएं 

  • इस योजना में इस नए विभाग के तहत इस क्षेत्र में कमियों को दूर करने का प्रयास भी शामिल होगा, साथ ही यह बुनियादी ढांचे, उत्पादन, उपज, उत्पाद की गुणवत्ता और प्रबंधन को नियंत्रित कर सकता है। 
  • देश में क्षेत्र के सभी लोगों को सहायता प्रदान करने के लिए कई योजनाएं शुरू की गई हैं, लेकिन ऐसे जलीय क्षेत्र हैं जिन्हें अभी तक बेहतर लाभ नहीं मिला है।  इस योजना के माध्यम से अन्य क्षेत्रों की तरह जलीय क्षेत्र को भी लाभ मिलेगा।  ताकि जलीय क्षेत्र को भी बढ़ावा मिल सके। 
  • इस योजना को प्रधान मंत्री मोदी द्वारानीली क्रांतिकहा जाता है।  और इस योजना को सफलतापूर्वक लागू करने के लिए, मोदी सरकार द्वारा एक अलग विभाग भी बनाया गया है।  जिसका नाम मत्स्य विभाग है।  यह विभाग केवल इस योजना के तहत बनाया जा रहा है। 
  • यह योजना मछली पालन को बढ़ावा देने के लिए भी शुरू की गई है, क्योंकि यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण क्षेत्र है, जिससे मछली का उत्पादन भी बढ़ेगा।
  • सरकार ने 2020 तक 15 मिलियन टन तक मछली उत्पादन का लक्ष्य रखा है, जिसे इस योजना के माध्यम से पूरा किया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से मछुआरा समुदाय के लोगों के लिए ऋण सुविधा को आसान बनाया जाएगा, ताकि जलीय क्षेत्रों में भी उन्हें जलीय उत्पादों या अन्य से संबंधित व्यवसाय करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके।
  • इस योजना के माध्यम से, सरकार मछुआरों और जलीय कृषि क्षेत्र में काम करने वाले मछुआरों को किसानों और समाज के लिए चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं में शामिल करना चाहती है।  ताकि उन्हें भी दुर्घटना बीमा मिल सके।

पिछले साल मोदी सरकार द्वारा इसके लिए एक फंड आवंटित किया गया था, जो 7,522 करोड़ रुपये था।  इस फंड को फिशरीज एंड एक्वाकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट फंड यानी FIDF कहा जाता था।  इस योजना के लिए वित्तीय सहायता राज्य सरकार, सहकारी समितियों, व्यक्तियों और उद्यमियों को उचित दरों के आधार पर प्रदान की जाएगी। 

प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना 2022 के लिए कौन पात्र 

  • मछली पालन या अन्य जलीय जीवों की खेती करने वाले लोग  
  • जलीय कृषि करने वाले लोग
  • प्राकृतिक आपदा से पीढित लोग 

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना में आवेदन कैसे करें ?

(How to Apply in Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana दोस्तों जल्दी ही उम्मीद है कि इस योजना को बहुत जल्द शुरू कर दिया जाएगा। जैसे ही इसकी आवेदन प्रक्रिया के बारे में कोई जानकारी मिलती है। हम आपको तुरंत सूचित कर देंगे। 

आशा करते हैं हमारे द्वारा बताई गई जानकारी आपको लाभदायक साबित हुई होगी इसी प्रकार की और जानकारी के लिए आप हमसे ऐसे ही जुड़े रहिये , और अपनी कीमती राय हमें कमेंट करके जरूर बताइये इससे हमें भविष्य में और बेहतर कंटेंट लाने में सहायता मिलती है , धंन्यवाद।

 

Leave a Comment