{Form} UP Kaushal Satrang Scheme 2021 | उत्तर प्रदेश कौशल सतरंग योजना

{Form} UP Kaushal Satrang Scheme 2021 | उत्तर प्रदेश कौशल सतरंग योजना

UP Kaushal Satrang Scheme 2021 Online Registration

UP Kaushal Satrang Yojana 2021 | उत्तर प्रदेश कौशल सतरंग योजना 2021 | Yogi Kaushal Satrang Yojana  | योगी कौशल सतरंग योजना 2021

योजना लाने के पीछे सरकार का उद्धेश्य-

इस योजना को लाने के पीछे उत्तर प्रदेश की योगी सरकार का उद्धेश्य बिलकुल स्पष्ट हैं और वो ये हैं कि, उत्तर प्रदेश के तमाम शिक्षित युवा, बेरोजगार और अल्पशिक्षित युवाओं व नागरिकों को किसी भी रोजगार के लिए आवश्यक कौशल प्रदान करके उन्हें रोजगार प्रदान करना हैं ताकि हमारे काबिल और क्षमतावान युवा ना सिर्फ अपना विकास और कल्याण कर सके बल्कि राज्य के विकास में योगदान देते हुए राष्ट्र के विकास में अपनी भूमिका अदा कर सकें।

Kaushal Satrang Scheme 2020

कौशलीकरण और सशक्तिकरण का विकासात्मक मिश्रण-

जी हां, आप बिलकुल सही पढ़ रहे हैं कि, यू.पी में योगी सरकार द्धारा लाई गई इस योजना में ना सिर्फ कौशल हैं बल्कि हमारे युवाओं का सशक्तिकरण भी हैं जिससे सफल मश्रण से हमारे युवाओं के भविष्य उज्जवल होगा और उनके योगदान से हमारे भारतवर्ष का मस्तक ऊंचाईयों के गहराई को छुयेगा।

क्या हैं कौशल सतरंग योजना 2020?

आपको जानकर हैरानी होगी और साथ-ही-साथ आपकी ये शिकायत भी दूर होगी कि, सरकार हम युवाओं के लिए कुछ करती नहीं हैं क्योंकि यू.पी की योगी सरकार ने ना सिर्फ यू.पी कौशल सतरंग योजना बल्कि युवा हब योजना और मुख्यमंत्री शिक्षुता संवर्द्धन योजना 2020 जैसी 3 युवा सशक्तिकरण की योजनायें लेकर आई हैं और जिसे हरी झंडी भी मिल गई हैं। इन तीनों योजनाओं के तहत युवाओ को कौशल प्रशिक्षण देने के साथ-साथ वजीफा और नौकरी का आश्वास भी दिया जाता हैं। इन सभी बातों को देखते हुए हम ये कह सकते हैं कि, इन सभी योजनाओं का मूल उद्धेश्य युवा सशक्तिकरण हैं ताकि वे कौशल अर्जित कर रोजगार करके अपने सशक्तिकरण को समाज में फैलना हैं।

Read: {sewayojan.up.nic.in} सेवायोजन ऑनलाइन आवेदन

कौशल योजना के 7 घटक-

यू.पी सरकार द्धारा 2.37 लाख बेरोजगार युवाओं, शिक्षित युवाओं और अल्पशिक्षित युवाओं को कौशल सतरंग योजना 2020 के तहत प्रशिक्षण देना हैं। इस योजना की मुख्य बात यह हैं कि, इस योजना के तहत आपको इसमें 7 घटक देखने को मिलेंगे जो युवाओं को नौकरी के अवसर प्रदान करेंगे। इस योजना के तहत यू.पी के हर जिले को शामिल कर उनके युवाओं को सशक्तिकरण किया जाएगा।

कौशल सतरंग योजना और रोजगार मेले की सांझेदारी व उद्धेश्य-

कौशल सतरंग योजना और रोजगार मेले दोनो की सांझेदारी द्धारा ’’ युवा-सशक्तिकरण ’’ के लिए कदम उठाये गए हैं जिसके परिणामस्वरुप इन दोनो का लक्ष्य हैं कि, कम से कम 2 लाख युवाओं को प्रशिक्षित कर नौकरी प्रदान की जाए और इसी लक्ष्य की प्राप्ति के लिए राज्य सरकार ने 1200 करोड़ खर्च किये हैं और उनका मानना हैं कि, इससे हमारे युवाओं का ना केवल विकास होगा बल्कि उनका भविष्य भी उज्जवल होगा।

उत्तर प्रदेश (यूपी) सरकारी योजनाओं की सूची 2020

कौशल सतरंग योजना के तहत दी जाने वाली रोजगार प्रशिक्षण-

यू.पी सरकार द्धारा युवा सशक्तिकरण की दिशा में उठाए गये इस कदम की जितनी प्रशंसा की जाए उतनी कम हैं। इस योजना के तहत होने वाले खर्च का व वजीफे की कुल राशि में से केंद्र सरकार 1500 रू., राज्य सरकार 1000 रु व शेष राशि संबंधित उद्योग द्धारा वहन की जाएगी।

सभी बेरोजगार युवाओं को MSMS UNITS में प्रशिक्षित किया जायेगा और जिसके पूरा होने पर सरकार उन्हें निश्चित अवधि के रोजगार से जोड़े कर उनका बेरोजगारी की समस्या को दूर करने का प्रयास करेगी।

कौशल सतरंग योजना का ब्लू प्रिन्ट –

इस योजना के ब्लू-प्रिन्ट के तहत हम आपको इस योजना की मुख्य विशेषताओं से परिचित करायेंगे ताकि आप इस योजना के किसी भाग से अछुते ना रहें। इस योजना की विशेषताए कुछ इस प्रकार हैं-

  1. कौशल सतरंग योजना का लाभ उत्तर प्रदेश के युवाओं की मिलेगा।
  2. इस योजनांतर्गत प्रशिक्षण पश्चात रोजगार प्रदान किया जाएगा।
  3. राज्य में ज्यादा से ज्यादा रोजगार मेलो का आयोजन कर अधिक से अधिक युवाओं को इस योजना से जोड़ा जायेगा।
  4. इस योजना की सफलता के लिए 7 नई योजनाओं को तैयार किया जायेगा।
  5. इस योजना के तहत राज्य के सभी वर्गों को लाभ पहुंचाया जाएगा।
  6. इस योजना के माध्यम से स्त्री-सशक्तिकरण को स्थापित किया जाएगा।
  7. बिचौलियों की समाप्ति के लिए इस योजना के बाद मिलने वाली नौकरी से प्राप्त वेतन सीधी लाभार्थी के बैंक खाते में किया जाएगा।
  8. अन्त, इस योजना के सफलतापूर्वक क्रियान्वयन के बाद किसी भी युवा क बेरोजगार नहीं भटकना पड़ेगा।

उपरोक्त ब्लू-प्रिंट के आधार पर आप काफी हद तक ये समझ ही गये होंगे कि, इस योजना का उद्धेश्य, स्वरुप और प्रभाव क्या होगा।

{रजिस्ट्रेशन} कन्या सुमंगला योजना 2020

युवा हब योजना, संक्षिप्त परिचय-

उत्तर प्रदेश सरकार ने युवा उद्योग विकास अभियान या YUVA हब योजना का शुभारंभ भी किया है। युवा हब योजना, सरकार में युवाओं को आत्म निर्भर बनाने के लिए राज्य के प्रत्येक जिलों में युवा हब की स्थापना की जाएगी। बेरोजगार युवाओं को उनकी योग्यता के अनुसार उपयुक्त नौकरी मिल सकेगी।

युवा हब योजना के कुछ आंकड़े-

हर जिले में YUVA हब की स्थापना के लिए 50 करोड़ का प्रस्ताव है और यूपी विकास मिशन के विभिन्न प्रशिक्षण कार्यक्रमों में 2 लाख युवाओं को प्रशिक्षित करने का लक्ष्य रखा गया है। पिछले महीने, युवा हब योजना को रुपये आवंटित किए गए थे। यूपी बजट 2020-21 में 1,200 करोड़। इसका उद्देश्य ऑपरेशन के एक वर्ष के लिए परियोजना की अवधारणा और वित्तीय सहायता में सहायता करके हजारों कुशल युवाओं को रोजगार प्रदान करना है। सीएम युवा हब योजना 2020-21 से राज्य में 30,000 स्टार्टअप स्थापित करने की सुविधा होगी।

ये हैं मुख्यमंत्री की अपरेंटिसशिप स्कीम-

मुख्यमंत्री द्धारा शुरु की गई अपरेंटिसशिप प्रमोशन स्कीम- उत्तर प्रदेश राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री शिक्षुता प्रोत्साहन योजना (CMAPS) के लिए 100 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है। यह यूपी सरकार इंटर्नशिप योजना राज्य के युवाओं को ऑन-जॉब प्रशिक्षण प्रदान करेगी। इस योजना में, बेरोजगार लोगों को न केवल प्रशिक्षण मिलेगा, बल्कि उन्हें प्रति माह 2,500 रुपये एक स्टाइपेंड भी मिलेगा।

अन्त में हम यही कह सकते हैं कि, सरकार ने हर युवा के लिए अवसर के दरवाजे को खोल दिया हैं आपको बस इसके भीतर जाना हैं और अपनी मंजिल को हासिल करना हैं।

यूपी सरकार द्वारा चलायी गयी प्रसिद्ध योजनाएँ

Leave a Comment