UP Viklang Pension Yojana 2022 | उत्तर प्रदेश विकलांग पेंशन योजना

UP Viklang Pension Yojana 2022

उत्तर प्रदेश विकलांग पेंशन योजना 2022 | Uttar Pradesh {UP}  Viklang Pension Yojana 2022 Online Registration | How to apply UP Viklang Pension Yojana 2022 | यूपी विकलांग पेंशन योजना 2022 |Document required

उत्तर प्रदेश विकलांग :

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने, राज्य के सभी दिव्यांग भाई – बहनो के सामाजिक – आर्थिक विकास व उज्जवल भविष्य के निर्माण हेतु UP Viklang Pension Yojana 2022 का शुभारम्भ कर दिया है जिसके तहत हमारे सभी दिव्यांग लाभार्थियो को उनके आर्थिक मजूबतीकरण के साथ – साथ सशक्तिकरण के लिए 500 रुपयो की मासिक पेंशन राशि दी जायेगी ताकि वे स्वाभिमानपूर्वक अपना जीवन जी सकें।

UP Viklang Pension Yojana 2022

यूपी दिव्यांग पेंशन योजना 2022 में उत्तर प्रदेश में रहने वाले स्थायी विकलांग आवेदक, 18 वर्ष से अधिक आयु के विकलांग आवेदक, 40 या अधिक विकलांग आवेदक और ग्रामीण क्षेत्रों के लिए जारी वार्षिक आय 46 हजार 80 रुपये और शहरी क्षेत्रों में 56,460 रुपये से कम आय वाले सभी दिव्यांग आवेदन कर सकते हैं। इस योजना के लिए आवेदन करें और इसका लाभ प्राप्त करें।

अन्त, हम, अपने सभी विद्यार्थियो को UP Viklang Yojana 2022, यू.पी दिव्यांग पेंशन योजना 2022, विकलांग पेंशन कब आएगी खाते में कब आयेगी?, viklang pension aane ki jankari, viklang pension list up 2022 और उत्तर प्रदेश विकलांग / दिव्यांग पेंशन योजना 2022 – ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया व अन्य जानकारीयां विस्तार से प्रदान करेंगे ताकि हमारे सभी आवेदक, इस योजना में, आवेदन करके इसका पूरा – पूरा लाभ प्राप्त कर सकें।

हमारा आज का लेख यूपी के हमारे सभी दिव्यांगजन भाइयों और बहनों को समर्पित है और हम इस लेख में अपने सभी दिव्यांगजनों को शारीरिक रूप से विकलांग पेंशन योजना 2022 यूपी और SSPPY-UP.gov.in 2022 के बारे में पूरी जानकारी देंगे, इसके बारे में बताएंगे मूल लक्ष्य और लाभ, इस योजना के तहत मांगे जाने वाले दस्तावेजों और पात्रता के बारे में बताएंगे, साथ ही इस योजना में की जाने वाली ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया का एक सचित्र विवरण भी प्रस्तुत करेंगे ताकि हमारे यूपी के सभी दिव्यांग भाई और बहन अधिक आवेदन कर सकें। और इस योजना में और अधिक और इस योजना का अधिकतम लाभ प्राप्त करें।

योजना का नाम यू.पी विकलांग पेंशन योजना 2022
योजना के पहलकर्ता उत्तर प्रदेश।
योजना का मौलिक उद्धेश्य यू.पी के सभी दिव्यांग भाई-बहनो का सम्पूर्ण विकास करना औऱ आत्मनिर्भर बनाना।
योजना के लाभार्थी योजना के तहत उत्तर प्रदेश के सभी योग्य दिव्यांग भाई-बहन।
योजना के केद्रीय बिंदु सभी दिव्यांग भाई-बहनो को आत्मनिर्भर व आत्मसशक्त बनाना।
योजना में, आवेदन की स्थिति योजना में, ऑनलाइन आवेदन जारी हैं।
योजना से संबंधित सभी लिंक योजना के तहत जारी आधिकारीक वेबसाइट का लिंक- http://sspy-up.gov.in/oap/public/LandingPage.aspx?F=P।
योजना के तहत मासिक तौर पर दी जाने वाली पेंशन राशि योजना के तहत सभी दिव्यांग भाई-बहनो को 500 रुपयो की मासिक पेंशन दी जायेगी।

विकलांगता का नया रुप दिव्यांगता-

उत्तर प्रदेश राज्य के सभी विकलांग लोगो की विकलांगता वाली सभी मजबूरीयो को समाप्त करने के लिए योगी सरकार ने, UP Viklaang Pension Yojana 2022 का शुभारम्भ कर दिया है जिसके तहत ना केवल राज्य के विकलांग लोगो को नई पहचान दी जायेगी बल्कि उनके आर्थिक सशक्तिकरण के लिए 500 रुपय प्रतिमाह की पेंशन भी दी जायेगी।

हम राज्य के अपने सभी विकलांग भाइयों और बहनों को बताना चाहते हैं कि, उत्तर प्रदेश विकलांग पेंशन योजना 2022 का लाभ लेने के लिए, आपकी आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए, आप यूपी के स्थायी निवासी होने चाहिए, आप बी.पी. एल श्रेणी से संबंधित होना चाहिए और कम से कम आपकी विकलांगता 40 प्रतिशत होनी चाहिए, तभी आप इस योजना के लिए आवेदन कर सकेंगे और प्रति माह 500 रुपये की विकलांगता पेंशन प्राप्त कर सकेंगे।

क्या हैं उत्तर प्रदेश विकलांग पेंशन योजना?

हम आपको विस्तार से बताने जा रहे हैं कि, आखिर उत्तर प्रदेश सरकार द्धारा विकलांग अर्थात् दिव्यांग सशक्तिकरण की दिशा मे जो कदम उठाया गया हैं उसके क्या पहलू हैं और उसका क्या प्रभाव रहने वाला हैं हमारे दिव्यांग भाई-बहनों पर।

Read: {यूपी भूलेख} UP BhuLekh 2022

यू.पी विकलांग पेंशन योजना 2022– मौलिक लक्ष्य

हम, अपने सभी उत्तर प्रदेश के दिव्यांग भाई-बहनो को इस योजना के मौलिक लक्ष्यो के बारे में बताना चाहते हैं जो कि, इस प्रकार से हैं-

  1. इस योजना के तहत हमारे सभी दिव्यांग भाई-बहनो का ’’ आत्मनिर्भर सशक्तिकरण ’’ किया जायेगा,
  2. इस योजना के तहत हमारे सभी दिव्यांग भाई-बहनो को दैनिक आर्थिक जरुरतो की पूर्ति के लिए मासिक तौर पर 500 रुपयो का आर्थिक पेंशन दी जायेगी,
  3. इस योजना के तहत हमारे सभी दिव्यांगजनो को एक नई सामाजिक पहचान दी जायेगी,
  4. इस योजना के तहत हमारे सभी दिव्यांगजनो को दया का पात्र नही बल्कि विश्वास का पात्र बनाया जायेगा और
  5. इस योजना की मदद से हमारे सभी दिव्यांग भाई-बहनो का सम्पूर्ण व सतत विकास किया जायेगा आदि।

उपरोक्त सभी मौलिक लक्ष्यो की पूर्ति इस योजना के तहत की जायेगी जिससे हमारे सभी दिव्यांजनो का सर्वाधिक कल्याण और विकास  होगा।

यू.पी विकलांग पेंशन योजना 2022– मौलिक लाभो

हम, अपने सभी उत्तर प्रदेश के दिव्यांग भाई-बहनो को इस योजना के मौलिक लाभो के बारे में बताना चाहते हैं जो कि, इस प्रकार से हैं-

  1. इस योजना के तहत हमारे सभी दिव्यांग भाई-बहनो का ’’ आत्मनिर्भर सशक्तिकरण ’’ हुआ हैं,
  2. इस योजना के तहत हमारे सभी दिव्यांग भाई-बहनो को दैनिक आर्थिक जरुरतो की पूर्ति के लिए मासिक तौर पर 500 रुपयो का आर्थिक पेंशन प्राप्त हुई हैं,
  3. इस योजना के तहत हमारे सभी दिव्यांगजनो को एक नई सामाजिक पहचान प्राप्त हुई हैं,
  4. इस योजना के तहत हमारे सभी दिव्यांगजनो को दया का पात्र नही बल्कि आत्मनिर्भर व आत्मसशक्त बनें,
  5. इस योजना की मदद से हमारे सभी दिव्यांग भाई-बहनो का सम्पूर्ण व सतत विकास हुआ आदि।

उपरोक्त सभी मौलिक लाभो की प्राप्ति इस योजना के तहत की गई जिससे हमारे सभी दिव्यांजनो का सर्वाधिक कल्याण और विकास हुआ।

योजना का ब्लू –प्रिंट

कुछ इस तरह का रहने वाला हैं इस योजना का ब्लू-प्रिंट-

इस योजना को उत्तर प्रदेश सरकार की विकलांग कल्याण विभाग द्धारा संचालित किया गया हैं। इस योजना का ब्लू-प्रिंट प्रस्तुत करने के लिए हम कुछ बिंदुओं का सहारा ले रहे हैं जो कि, इस प्रकार हैं-

  1. इस योजना का मूल उद्धेश्य हैं हमारे दिव्यांग भाई-बहनों का सशक्तिकरण,
  2. हमारे दिव्यांग भाई-बहनो का तिरस्कार, सामाजिक बहिष्कार और उन्हें बोझ के नजरिये से बचान का प्रयास हैं,
  3. हमारे वे दिव्यांग भाई-बहन जो 18 वर्ष से अधिक आयु के होने चाहिए,
  4. उनकी दिव्यागता कम से कम 40 प्रतिशत होनी चाहिए,
  5. उनका नाम अखिल भारतीय अन्तिम सूची बी.पी.एल मे होगा चाहिए और यदि उनका नाम इस सूची में दिखाई देता हैं तो उन्हें प्रतिमाह 500 रू का आर्थिक पेंशन की जायेगी।

उपरोक्त बिंदुओं का सहारा हमने बस आपको इस योजना का ब्लू-प्रिंट दिखाने के लिए किया हैं।

किन-किन कागजातों कि, हो सकती हैं मांग-

इस योजना के तहत हमारे दिव्यांग भाई-बहनों को कुछ इन कागजातो की जरुरत पड़ सकती हैं या फिर इनसे कुछ इन कागजातो की, कि जा सकते हैं मांग, जो कि, इस प्रकार हैं-

  1. हमारे दिव्यांगो के पास उत्तर प्रदेश का मूल निवास प्रमाण पत्र होना चाहिए,
  2. हमारे दिव्यांग भाई-बहनो के पास उनका जन्म प्रमाण पत्र या फिर आयु प्रमाण पत्र होना चाहिए,
  3. अपनी पहचान को प्रमाणित करने के लिए पहचान पत्र, राशन कार्ड या फिर आधार कार्ड होना चाहिए,
  4. सक्षम अधिकारी द्धारा जारी किया गया आय प्रमाण पत्र होना चाहिए,
  5. बैंक में खाता होना चाहिए औऱ उसके प्रथम पृष्ट की नकल होनी चाहिए,
  6. विधिवत प्रमाणित विकलांगता प्रमाण पत्र होना चाहिए आदि,
  7. हाल में खीचीं गई एक पास-पोर्ट साइज तस्वीर होनी चाहिए।

उपरोक्त वे कागजात हैं जिनकी मांग हमारे दिव्यांग भाई-बहनो से आवेदन के दौरान मांगा जा सकता हैं।

Read: UP Ration Card Online Form 2022

इन मानदंडो पर तय होगी आपकी पात्रता-

उत्तर प्रदेश सरकार द्धारा हमारे दिव्यांग भाई-बहनों की पात्रता को तय करने के लिए कुछ मानदंड तय किये गये हैं जो कि, इस प्रकार हैं-

  1. आयु सीमा 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए,
  2. कम से कम 40 प्रतिशत की दिव्यांगता होनी चाहिए,
  3. आवेदक गरीबी रेखा से नीचे होना चाहिए,
  4. उसकी मासिक आय ग्रामीण क्षेत्रो में 46 हजार 80 रु होनी चाहिए और शहरी क्षेत्रो में 56 हजार 460 रु होनी चाहिए,

उपरोक्त मानदंडो के आधार पर ही दिव्यांग भाई-बहनों की इस योजना के तहत पात्रता तय की जायेगी।

आवेदन की प्रक्रिया कुछ इस तरह की रहने वाली हैं-

इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए जो प्रक्रिया तय कि गई हैं वो कुछ इस प्रकार से हैं-

  1. सबसे पहले आपको एकीकृत सामाजिक पेंशन पोर्टल, उत्तर प्रदेश सरकार कि आधिकारीक वेबसाइट पर जाना होगा जो कि, इस प्रकार हैं-http://sspy-up.gov.in/,
  2. दिव्यांग पेंशन लिंक पर क्लिक करना होगा,
  3. इसके बाद आपको ऑनलाईन आवेदन करने वाली लिंक पर क्लिक करना होगा,
  4. इसके बाद आने वाले प्रवेश फार्म को सावधानीपूर्वक भरना होगा,
  5. इसके बाद आवेदक को अपनी व्यक्तिगत जानकारी दर्ज करके सबमिट पर क्लिक करना होगा,
  6. अन्तिम विकल्प पर यदि आप चाहे तो फार्म संपादित कर सकते हैं या फिर अन्तिम तौर पर जमा कर सकते हैं और उसकी एक नकल प्राप्त कर सकते हैं।

उपरोक्त प्रक्रियाओं के माध्यम से हमारे दिव्यांग भाई-बहन सरलता से आवेदन कर इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

Read: {Form} UP Berojgari Bhatta 2022

इस तरह से देख सकते हैं आवेदन पत्रो को-

यदि हमारे दिव्यांग भाई-बहन अपने आवेदन को देखना चाहे तो वे इस तरह से देख सकते हैं कि, उनका आवेदन विधिवत भरा गया हैं या नहीं। आवेदन देखने की प्रक्रिया का वर्णन नीचे इस प्रकार हैं-

  1. http://sspy-up.gov.in/oap/public/LandingPage.aspx?F=P, इस लिंक पर सबसे पहले आपको जाना होगा। यहां से आप अपने आवेदन फार्म को देख सकते हैं औऱ उसकी एक नकल भी प्राप्त कर सकते हैं।

उपरोक्त वर्णित प्रक्रिया के द्धारा आप सरलता से अपने आवेदन को देख सकते हैं।

इस तरह से कर सकते हैं अपने आवेदन की जांच-

अपने आवेदन की जांच करने के लिए आपको कुछ चरणों को पूरा करना होगा जो कि, इस प्रकार हैं-

  1. सबसे पहले आपको इस लिंक पर जाना होगा जो कि, इस प्रकार हैं-http://sspy-up.gov.in/oap/public/MenuPagePublicFor_Password.aspx
  2. आवेदन पंजीकरण संख्या व बैंक खाते का प्रयोग करके एक पासवर्ड बनाना होगा,
  3. इसके बाद विकलांग पेंशन लॉगिन पर क्लिक करना होगा,
  4. अपने आवेदन की स्थिति की जांच के लिए आपको दिसानिर्देशों पर क्लिक करना होगा। यहां से आप अपने आवेदन की स्थिति को जांच सकते हैं।

उपरोक्त चरणों को सफलतापूर्वक पूरा करने के बाद आप अपने आवेदन की स्थिति को जांच सकते हैं।

बडी घोषणा के तहत जारी कर दी गई हैं विकलांग पेंशन सूची 2021

उत्तर प्रदेश सरकार ने एक बड़ी घोषणा करते हुए विकलांग पेंशन सूची 2020 को जारी कर दिया हैं जिसे देखने के लिए बस आपको इस लिंक पर जाना होगा जो कि, इस प्रकार हैं-http://sspy-up.gov.in/HandicapPension/HandicapReportDistrictVise_1920.aspx।

जिन आवेदकों ने इस योजना के तहत सफलतापूर्वक आवेदन किया था वे अपने नाम की खोज इस सूची में कर सकते हैं।

पिछले आंकड़ो पर एक नजर-

जब हम पिछले आकंडों पर नजर दौडाते हैं तो पाते हैं कि, 2019 की आखिरी तिमाही में कुल 9,53,752 पेंशनभोगी थे और राज्य सरकार ने इसके कुल 148 करोड़ रुपये जारी किए थे।

अन्त हमने आपको इस योजना से संबंधित तमाम जानकारी मुहैया करवाई है ताकि आप भी सरकार की इस योजना का लाभ उठा सकें।

इसे भी पढ़े….

हरयाणा योजना बिहार योजना
मध्य प्रदेश योजना मध्य प्रदेश योजना
पंजाब योजना उत्तर प्रदेश योजना
मुख्यमंत्री योजना राशन कार्ड सूची
तमिलनाडु योजना आंध्र प्रदेश योजना
बंगाल योजना दिल्ली योजना
हिमाचल प्रदेश योजना गुजरात योजना

 

Leave a Comment