जानिए ऑनलाइन प्रदूषण जांच केंद्र कैसे खोले - Sarkari Yojana 2023 | सरकारी योजना 2023

जानिए ऑनलाइन प्रदूषण जांच केंद्र कैसे खोले

प्रदूषण जांच केंद्र कैसे खोले

हमारा आज का लेख हमारे सभी युवाओ, स्वरोजगारकर्ताओ और शिक्षित बेरोजगारो को पूरी तरह समर्पित हैं क्योंकि हम इस लेख को इसी उद्धेश्य से लिख रहे हैं ताकि हमारे युवा खुद ’’ प्रदूषण जांच केंद्र कैसे खोले ’’ और अपना रोजगार कर सकें और अच्छी-खासी आमदनी कर सकें औऱ अपने व अपने परिवार का भविष्य संवार सकें। भारत में फैल रही बेरोजगारी की समस्या को कही ना कही रोकने में हमारी ये मुहिम कारगर साबित हो सकती हैं औऱ हमारी इस मुहिम को हमारे ये युवा ही कारगर बना सकते हैं इसलिए हम इस लेख में, अपने सभी युवाओ, स्वरोजगारकर्ताओ और शिक्षित बेरोजगारो को ’’ प्रदूषण जांच केंद्र कैसे खोले ’’ के बारे में बताना चाहते हैं ताकि वे इसे खोलकर अपने पैरो पर खड़े हो सके औऱ दूसरे बेरोजगारो को भी रोजगार दे सकें।

हम अपने इस लेख में आपको ’’ प्रदूषण जांच केंद्र कैसे खोले ’’ की पूरी जानकारी देंगे, किन-शर्तो को करना होगा पूरा उसकी जानकारी देंगे, इसे खोलने के लिए हमारे युवाओ के पास कौन-कौन से उपकरण होने चाहिए, सभी जरुरी दस्तावेजो औऱ पात्रताओ के बारे में बतायेगे जिन्हें हमारे युवाओ को पूरा करना होगा और इसके साथ ही साथ हम अपने सभी युवाओ को ये भी बतायेगे कि, कैसे भी घर बैठे-बैठे इस प्रदूषण जांच केंद्र को खोलने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकता और अपने भविष्य की तस्वीर खुद से बना सकता हैं।

क्या हैं ये मुहिम ?

इस मुहिम के द्धारा भारत सरकार अपने सभी प्रतिभाशाली युवाओ, स्वरोजगारकर्ताओ औऱ शिक्षित बेरोजगारो को रोजगार प्रदान करेगी जिसके लिए सरकार ने इस मुहिन को अर्थात् प्रदूषण जांच केंद्र कैसे खोले मुहिम को शुरु किया हैं ताकि हमारे सभी आवेदक इसके तहत अपना प्रदूषण जांच केंद्र खोल सकें औऱ रोजाना करीब 5000-7000 रुपयो की कमाई कर सकें।

अपना प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए हमारे सभी योग्य आवेदक महज 10,000 रुपयो में इसका लाइसेंस ले सकते हैं और अपना प्रदूषण जांच केंद्र खोल सकते हैं जिससे उन्हें अनगिनत लाभ होगें औऱ उनका भविष्य भी सुरक्षित और समृद्ध होगा।

जन सेवा केंद्रो को भी मिली इजाजत

इस मुहिम के तहत जो बात सबसे ज्यादा लोगो को आकर्षित कर रही हैं वह यह हैं कि, इसके तहत हमारे  सभी जन सेवा केंद्रो को भी अपना प्रदूषण जांच केंद्र खोलने की इजाजत मिल चुकी हैं। इस प्रकार वे भी अब सभी वाहनो को डीलर्स अपना प्रदूषण जांच खोल पायेगे और अधिक आमदनी प्राप्त कर पायेगे।

5,000-7,000 रुपयो की होगी रोजाना कमाई

हमारे सभी युवा, स्वरोजगारकर्ता और शिक्षित बेरोजगार लोग आये दिन अपनी टूटी-फूटी आर्थिक स्थिति की दुहाई देते रहते हैं, पैसो की कमी के कारण घऱ की जरुरते पूरी नहीं कर पाते हैं और एक असहाय का जीवन जीते हैं लेकिन अब तस्वीर बदलने वाली हैं क्योंकि अब हमारे ये लोग अपना प्रदूषण जांच केंद्र खोलकर रोजाना करीब 5,000-7,000 रुपयो की कमाई कर सकते हैं जिससे ना केवल इनकी आर्थिक जरुरते पूरी होगी बल्कि इनका आर्थिक भविष्य भी सुरक्षित होगा।

Read: {Registration} हरियाणा सौर ऊर्जा पैनल पर सब्सिडी 2020

प्रदूषण जांच केंद्र से होने वाले लाभो पर आपकी नजर

यदि आप प्रदूषण जांच केंद्र खोलते हैं तो आपको क्या-क्या लाभ मिलेगे उसकी एक सूची इस प्रकार से हैं-

  1. हमारे युवाओ, स्वरोजगारकर्ताओ औऱ शिक्षित बेरोजगारकर्ताओ को रोजगार मिलेगा,
  2. बेरोजगारी की समस्या में कमी आयेगी
  3. उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार होगा और वे आर्थिक तौर पर सुरक्षित होंगे,
  4. वे दूसरो को भी रोजगार दे पायेगे,
  5. एक आत्मनिर्भर, आत्मसशक्त और आत्मजागरुक जीवन जी पायेगे आदि

इन शर्तो की पूर्ति के बाद ही खोल सकेगे अपना प्रदूषण जांच केंद्र

हम अपने सभी उन आवेदको को बताना चाहते हैं जो कि, इसके तहत अपना प्रदूषण जांच केंद्र खोलने की चाहत रखते हैं कि, अपना प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए आपको कुछ शर्तो की पूर्ति करनी होगी जिसका विवरण इस प्रकार से हैं-

  • अपना प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए आपके पास आर.टी.ओ द्धारा जारी अन्नापत्ति प्रमाण पत्र अर्थात् एन.ओ.सी सर्टिफिकेट होना चाहिए,
  • आपको अपना प्रदूषण जांच केंद्र पेट्रोल या डीजल पंप के पास ही खोलना होगा,
  • अपना प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए आपको एक लाइसेंस जारी किया जाता हैं जिसका जीवन-काल मात्र 1 वर्ष होता है इसलिए आपको अपने इस लाइसेंस को हर साल नवीनीकृत करवाना होगा,
  • आपको अपना प्रदूषण जांच केंद्र, पीले रंग में खोलना होगा,
  • आपके प्रदूषण जांच केंद्र पर आपका लाइसेंस नबंर जरुर लिखा होना चाहिए,
  • जब आप अपना प्रदूषण जांच केंद्र खोल लेते हैं तो आपको वाहनो को प्रदूषण प्रमाण पत्र देना औऱ वाहनो पर सरकार द्धारा जारी स्टीकर लगाना होगा,
  • आपको आपके प्रदूषण जांच केंद्र से सुविधा प्राप्त सभी वाहनो की रिकॉर्ड को 1 साल तक अपने कम्प्यूटर में सुरक्षित करके रखना होगा,
  • जिस व्यक्ति के नाम से लाइसेंस जारी हुआ हैं उसके द्धारा ही प्रदूषण जांच केंद्र का संचालन किया जाना जरुरी हैं,
  • आपके प्रदूषण जांच केंद्र के केबिन की चौड़ाई – 2 मीटर, लम्बाई 2.5 मीटर और ऊंचाई को 2 मीटर रखना होगा,
  • अपना प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए अलग-अलग राज्यो में अलग-अलग भुगतान शुल्क तय किये गये हैं जैसे कि- दिल्ली व एन.सी.आर में सुरक्षा जमा व लाइसेंस को मिलाकर कुल शुल्क 10,000 रुपये हैं उसी के अनुसार आपको अपने राज्य में, प्रदूषण जांच केंद्र खोलने लिए शुल्क का भुगतान करना होगा आदि।

उपरोक्त शर्तो की पूर्ति के बाद आप आसानी से अपना प्रदूषण जांच केंद्र खोल सकते हैं औऱ अच्छी आमदनी कमा कर अपना औऱ अपने परिवार को एक बेहतर जीवन स्तर प्रदान कर सकते हैं।

हमारे सभी आवेदको को करनी होगी इन दस्तावेजो व प्रमाण पत्रो की पूर्ति

हमारे सभी युवाओ, स्वरोजगारकर्ता और शिक्षित बेरोजगारो को अपना प्रदूषण जांच केंद्र खोलने लिए जिन दस्तावेजो और प्रमाण पत्रो की पूर्ति करनी होगी उसकी एक सूची इस प्रकार से है –

  1. हमारे सभी आवेदनकर्ताओ को ऑटोमोबाइल इंजीनियरींग सर्टिफिकेट और मोटरमेकेनिक सर्टिफिकेट उपलब्ध करवाना होगा,
  2. हमारे सभी आवेदनकर्ताओ को ऑटो मैकेनिक्स सर्टिफिकेट व डीजल मैकेनिक्स सर्टिफिकेट उपलब्ध करवाना होगा,
  3. इसके साथ ही हमारे सभी आवेदनकर्ताओ को स्कूटर मैकेनिक्स सर्टिफिकेट व इंडस्ट्रीयल ट्रेनिंग इस्टीट्यूट से प्रमाणित सभी प्रमाण पत्रो को आवेदन के दौरान उपलब्ध करवाना होगा आदि।

उपरोक्त प्रमाण पत्रो को पूरा करने के बाद ही हमारे आवेदनकर्ता इसके तहत अपना प्रदुषण जांच केंद्र खोलने के लिए आवेदन कर सकते हैं।

अपना प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए इन उपकरणो की होगी जरुरत

हमारे सभी आवेदनकर्ताओ को अपना जांच केंद्र खोलने के लिए कुछ उपकरणो की जरुरत पड़ेगी जिसकी सूची इस प्रकार से हैं –

  1. हमारे आवेदको को एक कम्प्यूटर औऱ वेब कैमरे की व्यवस्था करनी होगी,
  2. हमारे आवेदको को इसके साथ ही इंकजेट प्रिंटर और इन्टरनेट कनेक्शन की व्यवस्था करनी होगी,
  3. इसके साथ ही हमारे सभी आवेदको को बिजली की पर्याप्त आपूर्ति के लिए पावर सप्लाई के साथ –साथ स्मोक एनालाइजर आदि की व्यवस्था करनी होगी आदि।

उपरोक्त उपकरणो की व्यवस्था करने के बाद ही हमारे आवेदक अपना प्रदूषण जांच केंद्र खोल सकते हैं और इसका लाभ ले सकते हैं।

दो माध्यमो से कर सकते हैं प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए आवेदन

हमारी भारत सरकार ने, हमारे सभी युवाओ, स्वरोजगारकर्ताओ औऱ शिक्षित बेरोजगारो को रोजगार देने के उद्धेश्य से ही ’’ प्रदूषण जांच केंद्र खोले ’’ की शुरुआत की हैं और इसके व्यापक प्रचार-प्रसार के लिए इसके लिए होने वाली आवेदन प्रक्रिया को दो रुप दिये हैं ताकि हमारे सभी आवेदक अपनी सुविधानुसार आवेदन माध्यम का चयन करके आवेदन कर सकें औऱ अपना प्रदूषण जांच केंद्र खोलकर अपना उज्जवल भविष्य बना सकें। आवेदन के इन दोनो माध्यमो को हम इन बिंदुओ के माध्यम से आपके सामने रख रहे हैं जो कि, इस प्रकार से हैं-

  • ऑनलाइन कर सकते हैं आवेदन

हमारे वे सभी आवेदक को ऑनलाइन दुनिया से संबंध रखते हैं वे इसके लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं जिसके लिए उन्हें मात्र इन चरणो को पूरा करना होगा जो कि, इस प्रकार से हैं-

  • सबसे पहले हमारे सभी आवेदनकर्ताओ को इसकी आधिकारीक वेबसाइट पर जाना होगा जिसका लिंक हम अपने युवाओ की सुविधा औऱ सहजता के लिए लेकर आये हैं जो कि, इस प्रकार से हैं- https://vahan.parivahan.gov.in/puc/views/RegisterUser.xhtml,
  • हमारे युवाओ को उपरोक्त लिंक पर क्लिक करके इसके होम पेज पर आ जाना होगा,
  • इसके बाद होम पेज पर आपको ’’ नया प्रदूषण जांच केंद्र खोले ’’ का विकल्प मिलेगा जिस पर आपको क्लिक करना होगा,
  • इसके बाद आपके सामने एक आवेदन फॉर्म खुलेगा जिसे आपको सही-सही बिलकुल दस्तावेजो के अनुसार ही भरना होगा,
  • सभी मांगी गई दस्तावेजो की स्कैन कॉपी को अपलोड करना होगा,
  • आवेदन फॉर्म को सही से भरने के बाद आपको सबमिट के ब़टन पर क्लिक करना होगा।

उपरोक्त चरणो को पुरा करने के बाद आप आसानी से अपना प्रदूषण जांच केंद्र खोल कर अपने भविष्य को खुद से बना सकते हैं।

  • ऑफलाइन भी कर सकते हैं आवेदन

हमारे जो युवा, स्वरोजगार व शिक्षित बेरोजगार इन्टरनेट से संबंध नहीं रखते हैं उनकी सुविधा को देखते हुए ही सरकार ने, इसमें आवेदन की प्रक्रिया ऑनलाइन रुप भी दिया हैं ताकि हमारे भी आवेदक सरलता से इसके आवेदन कर सकें। ऑफलाइन आवेदन के लिए आपको इन चरणो को करना होगा पूरा जो कि, इस प्रकार से हैं-

  • सबसे पहले हमारे सभी आवेदनकर्ताओ को अपने-अपने क्षेत्रो के अनुसार आर.टी.ओ के कार्यालय में जाना होगा,
  • वहां से इसके लिए आवेदन फॉर्म लेना होगा,
  • फॉर्म को सही-सही दस्तावेजो के अनुसार ही भरना होगा,
  • आवेदन फॉर्म के साथ हमारे आवेदको को एक शपथ पत्र के तौर पर 10 रुपय का स्टाम्प पेपर भी सलंग्न करना होगा,
  • इसके बाद आपको अपने आवेदन फॉर्म वहीं पर संबंधित अधिकारी को जना करवा देना होगा,
  • इसके बाद आपके आवेदन को सत्यापित किया जायेगा और सत्यापन प्रक्रिया के बाद सत्यापन सही पाया जाने पर आपको प्रदूषण जांच केंद्र खोलने का लाइसेंस दे दिया जायेगा।

उपरोक्त चरणो को पूरा करने के बाद हमारे सभी आवेदक आसानी से समें आवेदन कर  सकतें हैं और लाइसेंस लेकर अपना प्रदूषण जांच केंद्र खोल सकते हैं।

FAQ’s

मुहिम को लेकर आपके Q. औऱ हमारे Ans.

हमे इस मुहिम को लेकर कई Q. मिले हैं जिनका हमने इस प्रकार से Ans. दिया हैं-

Q– इस मुहिम का लाभ किस राज्य के लोगो को मिलेगा?

Ans. – इस मुहिम का लाभ भारत के सभी राज्यो को मिलेगा।

Q– कौन-कौन इसके तहत अपना प्रदूषण जांच केंद्र खोल सकता हैं ?

Ans. हमारे सभी युवा, स्वरोजगारकर्ता और शिक्षित बेरोजगार सभी इसके तहत अपना प्रदूषण जांच खोल सकते हैं।

Q क्या हैं इसका लक्ष्य?

Ans. – इसका लक्ष्य हैं बेरोजगारी की समस्या को खत्म करना औऱ हमारे युवाओ को व बेरोजगारो को आर्थिक सुरक्षा प्रदान करना औऱ उन्हें एक आर्थिक तौर पर सुरक्षित उज्जवल भविष्य देना।

Q– लाइसेंस कितनो रुपयो मे मिलेगा ?

Ans. – मात्र 10,000 रुपयो में हमारे भी योग्य आवेदक लाइसेंस ले सकते हैं।

Q.- क्या –क्या चाहिए आवेदन के लिए ?

Ans. – हमारे सभी आवेदको को मुहिम के तहत जारी सभी दस्तावेजो और पात्रताओ को पूरा करना होगा।

Q.- कैसे कर सकते हैं आवेदन ?

Ans. – हमारे आवेदको की सुविधा औऱ सहजता को देखते हुए दोना माध्यम से आवेदन किये जा सकते है अर्थात् ऑनलाइन माध्यम से भी औऱ ऑफलाइन माध्यम से भी।

Leave a Comment