Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021 Election Date - पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव - Sarkari Yojana 2023 | सरकारी योजना 2023

Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021 Election Date – पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 

Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021 ।। west bengal vidhan sabha election date 2021 ।। west bengal election date 2021 schedule ।। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 – पूरी जानकारी हिंदी में ।।

Introduction

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021, सिर पर आ चुके है जिसे देखते हुए ना केवल बंगाल में, तैयारियों जोरो पर है बल्कि साथ ही साथ बिहार में, भी राजनीतिक दलो में, ऊर्जा व विजय की नई लहर देखी जा रही है और इसी लिए हम, अपने इस लेख में, आपको Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021 की पूरी जानकारी प्रदान करेंगे।

ऐसा माना जा रहा है कि, इस बार का बंगाल विधानसभा चुनाव कई मायनो में खास होने वाला है क्योंकि एक तरफ जहां भाजपा विरोधी राजनीतिक दल फिर से एकजुट होने जा रहे है वहीं दूसरी तरफ बिहार के कई राजनीतिक दलो भी बंगाल की धरती पर आमने – सामने उतरने वाले है, इस प्रकार हम, कह सकते है कि, इस बार का बंगाल विधानसभा चुनाव बेहद खास होने वाला है।

अन्त, हम, आपको west bengal vidhan sabha election date 2021, west bengal election date 2021 schedule और पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 – पूरी जानकारी हिंदी में प्रदान करेंगे ताकि आप इसी परिघटना की जानकारी प्राप्त कर सकें और आगामी बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 को लेकर अपनी समझ का विकास कर सकें।

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 – मुख्य पहलू क्या है?

जैसा कि, बंगाल की जनता और आम पाठकगण जानते है कि, बंगाल में, विधानसभा चुनावों का दौर शुरु होने वाला है जिसके लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है और सभी राजनीतिक दलो व उनके मुखियाओं ने, पूरी तरह से कमर कस ली है ताकि वे चुनाव में, अपनी जीत तय कर सकें।

हम, आपको पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 के कुछ मुख्य पहलूओं के बारे मे, बताना चाहते है जो कि, इस प्रकार से हैं –

  1. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 का आयोजन कुल 8 चरणो में, किया जायेगा,
  2. पश्चिम बंगाल में होने वाले इस विधानसभा चुनावों में, राजनीतिक दलो की प्रतिस्पर्धा व भागीदारी दोनो देखने को मिलेगी जिसके तहत बिहार के राजनीतिक दलो द्धारा सभायें भी आयोजित की जायेगी,
  3. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 मे, कुछ प्रमुख राजनीतिक दलों की प्रतिस्पर्धा देखने को मिलेगी जैसे कि – भारतीय जनता पार्टी, कांग्रेस, जदयू, राजत, भाकपा, माले व माकपा आदि।

उपरोक्त पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 के मुख्य पहलू है जिन्हें हमने आपके समक्ष प्रस्तुत किया ताकि आप भी पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 पर अपनी नजर बनायें रख सकें और पूरी जानकारी प्राप्त कर सकें।

Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021 – राजद व जदयू की रणनीतियां क्या है?

विधानसभा चुनाव भले ही बंगाल में, हो रहे हो लेकिन उसकी राजनीतिक तपिश यहां बिहार में देखने को मिल रही है जहां पर दो प्रमुख व प्रतिष्ठित राजनीतिक दलों ने, अपनी – अपनी रणनीतियों को अम्लीजामा पहचाना शुरु कर दिया है।

Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021 को देखते हुए जहां एक तरफ जदयू ने, अपने राजनीतिक कार्यकर्ताओं को बंगाल भेजा है सिर्फ और सिर्फ चुनाव लड़ने की संभावनायें देखने के लिए वहीं दूसरी तरफ निश्चय कर चुकी राजद दल ने, निर्षण कर लिया है कि, वे इस बार के Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021 में, शानदार व जोशील अंदाज में, भागीदारी करेगी।

इस बार का बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 कई मायनों में, विशेष होने वाला क्यूंकि बिहार जो वामपंथी व अन्य राजनीतिक दल एक साथ चुनाव लड़ते आये थे वे अब बंगाल की धरती पर जाकर एक – दूसरे के सामने प्रतिद्धंद्धी बनकर उतरेंगे जिससे इन चुनावों का महत्व और राजनीतिक समीकरण बेहद महत्वपूर्ण हो जाता है।

Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021 – कौन से दल कितने उम्मीदवार उतारेगी?

सूत्रो के मुताबिक कहा जा रहा कि, Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021 को देखते हुए कई राजनीतिक दलो में, उम्मीदवारों की सूची भी तैयार कर ली है जिन्हें भी बंगाल की धरती पर विजयपताका फहराने के लिए उतारेगी जिनकी सूची इस प्रकार से है –

  1. भाकपा – 12 उम्मीदवार उतारेगी,
  2. माकपा – 12 उम्मीदवार उतारेगी,
  3. कांग्रेस – 12 उम्मीदवार उतारेगी और
  4. माले – 12 उम्मीदवारो को उतारेगी आदि।

उपरोक्त सभी राजनीतिक दल, उपरारोक्त उम्मीदवारों की मदद से बंगाल विधानसभा चुनावों को जीतने की कोशिश करेंगी।

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 – भाजपा को हराने के लिए क्या रणनीति अपनाई गई?

जैसे ही, बंगाल निर्वाचन आयोग ने, पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 की आधिकारीक घोषणा की है वैसे ही सभी भारतीय जनता पार्टी को हराने के लिए सभी विरोधी राजनीतिक दलो ने, गठबंधन व समर्थन के न्यौते भेजने शुरु कर दिये है जैसे कि –

  1. भारतीय जनता पार्टी को पछाड़ने के लिए भाकपा ने, घोषणा की है कि, वे माले व अन्य सभी राजनीतिक दलो को समर्थन देगी और आगामी इतवार को इस पर सर्व – सहमति भी प्राप्त की जायेगी,
  2. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 में, अपनी जीत दर्ज करने के लिए व भारतीय जनता पार्टी को हराने के लिए एक महा – रैली का आयोजन किया जायेगा जिसमें भाकपा, माकपा, कांग्रेस व अन्य सहयोग पार्टियां शिरकत करेंगी और
  3. दीपंकर भट्टाचार्य जो कि, भाकपा के महासचिव है उन्होंने कहा है कि, इस महा – रैली में, माले हिस्सा नहीं लेगी आदि।

उपरोक्त रणनीतियों की मदद से पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 को जीतने का प्रयास किया जायेगा।

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 – बिहार के राजनीतिक दलो कि, क्या रणनीति है?

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 को देखते हुए बिहार के सभी प्रमुख राजनीतिक दलो ने, फैसला लिया है कि, वे मौजूदा विधानसभा सत्र समाप्त होने के बाद बंगाल को अपने पूरे राजनीतिक दल व कार्यकर्ताओं सहित बंगाल को रवाना होंगे।

इस बिहार के सभी राजनीतिक दलो की कोशिश रहेगी कि, वे अपने इसे नेता या कार्यकर्ता को प्राथमिकता दे जो कि, बंगाल को करीब से जानते है ताकि वे अपनी रणनीतियों को क्रियान्वित कर सकें और अपनी जीत तय कर सकें।

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 – रैली के बाद भाकपा – माकपा की नीति क्या है?

Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021 को देखते हुए तेजी से राजनीतिक समीकरण बदल रहे है जिसके तहत आयोजित होने वाले महा – रैली के बाद भाकपा व माकपा ने, अपनी – अपनी नीतियों को भी सार्वजनिक कर दिया है जिसके तहत –

  1. भाकपा व माकपा अपने – अपने सीटों का बटंवारा करेंगी,
  2. भाकपा व माकपा द्धारा इसी वजह से वामपंथी दलो को लेकर होने वाले बैठक का आयोजन भी महा – रैली के बाद ही किया जायेगा और
  3. उपलब्ध सूत्रो के अनुसार माकपा कुल 150 सीटों पर चुनाव लड़ने का दावा कर रही है आदि।

उपरोक्त सभी बिंदुओ की मदद से हमने, आपको आगामी Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021 को देखते हुए भाकपा व माकपा के नीतियों की जानकारी प्रदान की ताकि आप इस पूरे समीकरण को सरलता से समझ सकें।

Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021 – मांझी की पार्टी ने, सार्वजनिक की अपनी योजना

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री श्री. जीतन राम मांझी द्धारा गठित राजनीतिक दल ’’ हिंदुस्तान आवाम मोर्चा ( हम ) ’’ द्धारा भी अपनी नीतियों को सार्वजनिक कर दिया गया है जिसके तहत उनकी पार्टी, Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021 के कुल 26 विधानसभा सीटों पर चुनाव लडेगी।

मांझी की पार्टी अर्थात् हम, की मुख्य कोशिश रहेगी की बिहार से सटे बंगाल के इलाको अर्थार्त जहां बिहारियों की संख्या अधिक हो, को लक्ष्य बनाकर अपनी नीतियों को क्रियान्वित किया जाये और इसी लक्ष्य की प्राप्ति के लिए बीते 17 से लेकर 18 फरवरी को हम, पार्टी के अध्यक्ष जीतन राम मांझी, कोलकाता का दौरा भी कर चुके है।

Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021 – जदयू अगले सप्ताह जारी करेगा अपना घोषणा – पत्र

जहां अभी तक सभी राजनीतिक दलो ने, अपनी कमर कस ली है वहीं जदयू अभी तक सीटो के समीकरण को ही संतुलित करने की कोशिश में लगी हुई है जिसे देखते हुए मौजूदा सूत्रो के अनुसार कहा जा रहा है कि, संभवत अगले सप्ताह तक जदयू अपने घोषणा – पत्र को जारी करेगी।

Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021 – मुख्यमंत्री नीतिश कुमार की क्या रणनीति है?

यहां पर ये जानना भी बेहद जरुरी है कि, Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021 को लेकर बिहार के तत्कालीन मुख्यमंत्री श्री. नीतिश कुमार जी कि, क्या रणनीति है?

ताजा जानकारी व पुख्ता सूत्रो के मुताबिक ये कहा जा रहा कि, उनकी पार्टी अभी तक कुछ जरुरी कामो में, लगी हुई है लेकिन पार्टी की तरफ  से ऐसा कहा जा रहा है कि, Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021 के तहत आयोजित होने वाली महा – रैली में, बिहार के मुख्यमंत्री श्री. नीतिश कुमार निश्चित तौर पर भागीदारी करेंगे और चुनाव प्रचार अभियान को आगे बढ़ायेगे।

निष्कर्ष

अन्त, हमने, अपने इस लेख में, अपने सभी बंगाली जनता को Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021 की जानकारी देते हुए बिहार की जनता को भी बिहार के सभी राजनीतिक दलो द्धारा की जा रही बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 के लिए तैयारीयों व रणनीतियों की जानकारी प्रदान की ताकि आप इस पूरे विधानसभा चुनावों पर अपनी नजर बनायें रख सकें और Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021 पर अपनी राय प्रकट कर सकें।

Leave a Comment