खुद गिरकर भी हम दूसरों को बढ़ायेंगे! - Best Motivational Article in Hindi

खुद गिरकर भी हम दूसरों को बढ़ायेंगे! – Best Motivational Article in Hindi

Best Motivational Article in Hindi

आज हम आपको Best Motivational Article in Hindi के बारे में जानकारी देने जा रहे है। इसलिए लिए आपको यह लेख ध्यान से पढ़ना होगा। हमें सदैव अपने करीबी लोगों, दोस्तों और अपनों को प्रोत्साहित करते रहना चाहिए क्योंकि इससे उनका मनोबल काफी हद तक बढ़ जाता हैं और वे सकारात्मक विचारों से ओत-प्रोत हो जाते हैं जो कि, उनके लिए और उनके भविष्य के लिए बेहद लाभदायक होता हैं Best Motivational Article in Hindi

हमें सदैव अपने दोस्तों को प्रोत्साहित करते रहना चाहिए क्योंकि हम ही उनके सबसे करीब होते हैं और कहीं ना कहीं वो भी हमारे उतने ही करीब होते हैं। दोस्ती से बढ़कर रिश्ता और कोई नहीं होता क्योंकि एक समय के लिए आपको सब कुछ मिल सकता हैं या आप खुद ही सब कुछ हासिल कर सकते हैं पर एक बार यदि आपका दोस्त किसी भी वजह से आपसे रुठ कर दूर चला गया हैं तो फिर उसकी वापसी लगभग असंभव हैं। इसलिए लोग कहते हैं कि, दुनिया में आपको सब कुछ मिल सकता हैं पर दोस्त नहीं मिल सकता तो फिर आप अपने इतने अजीज दोस्त का अच्छा तो चाहते ही होंगे, उसके खुशी में ही आपकी खुशी होती हैं तो फिर क्यों ना उस खुशी को और बढ़ाया जाए, कैसा रहेगा ?

अब कैसे उसकी खुशी में मौजूद अपनी खुशी को बढ़ाया जाए, प्रश्न ये उठता हैं क्यों ? तो मैं यही कहना चाहूँगा कि, जितना छोटा-सा ये प्रश्न हैं उतना ही छोटा-सा इसका उत्तर हैं और वो उत्तर यह हैं कि, हम अपने दोस्त का हर कदम पर हौसला बढ़ाय, उसे प्रोत्साहित करें और उसे जहाँ तक संभव हो सकारात्मक रखने की कोशिश करें, बस। इसमें देखने वाली बात यह होती हैं कि, हर दोस्त तो अपने किसी ना किसी दोस्त का हौसला बढ़ाता ही रहता हैं फिर इसमें नई बात क्या हैं ?

Article

आपको जानकर हैरानी होगी कि, इसमें एक नई बात भी है, क्योंकि असल में वह अपनी तुलना किसी और से नहीं कर रहा है, बल्कि अपनी तुलना अपने दोस्त से कर रहा है, इसलिए जब किसी काम में उसका दोस्त कहता है कि, यार तुम कमाल हो . किया, मैं यह नहीं कर सकता, बस उसकी खुशी और आत्मविश्वास ही काफी नहीं है, वह सोचता है कि उसने सब कुछ जीत लिया है क्योंकि उसने अपने दोस्त को अपने काम से खुद की प्रशंसा करने के लिए मजबूर किया है, और क्या चाहिए?

Read: घर बैठे पैसे कैसे कमाए

Read: 10 बातें घर-परिवार में खुशहाली रखने के लिए

दोस्तों के प्रति हमेशा पॉजिटिव विचार रखें:-

इसलिए मैंने कहा कि, दरअसल आपका दोस्त किसी और से नहीं बल्कि आपसे ही अपनी तुलना करता हैं। आपने कई बार देखा होगा कि, आप कुछ नहीं करते लेकिन अगर कोई दूसरा व्यक्ति जो आप लोगों का दोस्त नहीं हैं औऱ वो कुछ कर रहा हैं तो आपके दोस्त को इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा और ना ही वो काम करना चाहेगा जो वो कर रहा हैं क्योंकि वो उससे अपनी तुलना नहीं करता इसलिए, वही दूसरी तरफ आप कोई भी छोटे से छोटा काम भी करेंगे तो आपका दोस्त पक्का उस काम को करेगा, उसमें अपनी रुचि दिखाऐगा और एक समय पर आपसे अच्छा करने की कोशिश करेगा क्योंकि वो वास्तव में आपसे ही अपनी तुलना करता हैं और आप ही उसके प्रतिद्धंद्धि होते हैं, इसलिए जब वो आपसे बेहतर या अच्छा करता हैं और आप उसकी तारिफ कर देते हैं तब खुद ब खुद उसका आत्मविश्वास और हौसला बढ़ जाती हैं। .ये काफी गहरी बात हैं जिसे समझने में शायद हमें काफी समय लग जाऐगा।

ऐसा नहीं हैं कि, ये हाल सिर्फ दोस्तों के बीच ही होता हैं, ऐसा नहीं हैं ऐसा हर जगह होता हैं चाहे फिर आप स्कूल मे हो, कॉलेज मे हो या फिर दफ्तर में ही क्यों न हो और हाल तो यहाँ तक हैं कि चाहे फिर वो आपका अपना छोटा या बड़ा भाई या बहन हो, सब जगह यही हाल हैं।

Best Motivational Article in Hindi

अब जब हम सब जान गये हैं कि, वो दोस्त जो हर कदम हमारे साथ चलता हैं, हमारे साथ हँसता हैं रोता हैं और जो हमेंशा हमारा भला चाहता हैं इस सूरत में जब हमें पता चलता हैं कि, जो दोस्त हमारी इतनी फिकर करता हैं दरअसल वह हम से ही अपनी तुलना करता हैं तो क्यूं न हम, उसके हर छोटे से छोटे काम के लिए उसका हौसला बढ़ाए औऱ उसे औऱ अच्छा करने के लिए प्रोत्साहित करें और यकीन कीजिए आपके ऐसा करने से उसमें असीम ऊर्जा का संचार होगा और आत्मविश्वास से लबालब भर जाऐगा पर हमें यहाँ पर यह ध्यान देना हैं कि, कहीं हम उसकी हिम्मत बढ़ाने के बजाए उसे गलत दिशा में ना मोड़ दे अर्थात उसे ताड़ के गाछ पर ना चढ़ाए, बल्कि जहाँ वो गलत हो वहाँ उसकी गलती बताए पर एक आत्मविश्वास के साथ ताकि उसका हौसला बना रहें।

जिस तरह हमारा दोस्त हमारा भला चाहता है, उसी तरह हम भी अपने दोस्त का भला चाहते हैं, तो यह जानते हुए कि वह हमसे अपनी तुलना कर रहा है, तो क्यों न उसे खुद से बेहतर बताया जाए ताकि वह बेहतर करे और सकारात्मक बने रहे, इतना ही, अगर ये सारे बदलाव हमारे दोस्त में आ सकते हैं, तो इतना करने में हमारा क्या फायदा, इसलिए जब भी आपका दोस्त कुछ अच्छा करे तो उसकी खुलकर तारीफ करें और उसे और बेहतर करने के लिए प्रेरित करें।

Leave a Comment