Lockdown 2.0 Kya Hai In Hindi | जानिए लॉकडाउन 2.0 क्या है? - Sarkari Yojana 2023 | सरकारी योजना 2023

Lockdown 2.0 Kya Hai In Hindi | जानिए लॉकडाउन 2.0 क्या है?

Lockdown 2.0 Kya Hai in Hindi

हमारा ये लेख सभी राष्ट्रवासियों को समर्पित हैं क्योंकि हम अपने इस लेख में आपको Lockdown 2.0 Kya Hai in Hindi की पूरी जानकारी प्रदान करेंगे ताकि आप भी सरकार की इस संकट की घड़ी में मदद कर सकें।

कोरोना वायरस को देखते हुए भारत सरकार मे 21 दिनों की तालाबंदी को जारी रखा हैं ताकि कोरोना को हराने में समस्त भारतवासी अपना योगदान दे सकें। हम अपने इस लेख में आपको “लॉकडाउन 2.0 क्या है” की पूरी और हर जानकारी प्रदान करेंगे।

Lockdown 2.0

3 मई तक चलेगा लॉकडाउन का दौर

हम अपने समस्त भारतवासियों को सूचित करना चाहते हैं कि, कोरोना वायरस को लेकर 14 अप्रैल,2020 को भारतीय प्रधानमंत्री ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए राष्ट्रवासियों को सूचित किया कि, 21 दिनों का लॉकडाउन अभी खत्म नहीं होगा बल्कि इसका दूसरा चरण अर्थात् 19 दिनों का लॉकडाउन अर्थात् लॉकडाउन 2.0 आज से ही लागू कर दिया गया हैं ताकि हम सब मिलकर इस कोरोना को हरा सकें और विश्व में एक प्रतिमान स्थापित कर सकें।

 जाने कोरोना महामारी संकट कब खत्म होगा

प्रधानमंत्री की लॉकडाउन 2.0 को सफल बनाने की राष्ट्र से अपील

प्रधानमंत्री ने राष्ट्र से अपील की हैं कि, लॉकडाउन 2.0 को सफल बनाईये और कोरोना को हाराईए। इसके साथ ही उन्होनें ये भी कहा कि, अभी युद्ध समाप्त नहीं हुआ हैं इसलिए जिस तरह से हमने 21 दिनों वाले लॉकडाउन अर्थात् लॉकडाउन 1.0 को सफल बनाया ठीक उसी प्रकार हमे 19 दिनों के लॉकडाउन 2.0 को भी सफल बनाना हैं और कोरोना को हराना हैं।

 

लॉकडाउन 2.0 के कुछ चारित्रिक पहलू

हम अपने सभी राष्ट्रवासियों को लॉकडाउन 2.0 के कुछ चारित्रिक पहलूओं के बारे में बताना चाहते हैं जो कि, इस प्रकार हैं-

  1. जान है तो जहान है

हम अपने सभी राष्ट्रवासियों को बताना चाहते हैं कि, ‘जान है तो जहान है‘, ये तो सबने सुना ही है और लॉकडाउन की हालत में बहुत से लोग ऐसा बोलते दिख भी जाते हैं, लेकिन पीएम मोदी ने कहा था कि ‘जान भी और जहान भी’। यानी उनका कहने का मतलब था कि जान तो जरूरी है, लेकिन जीने के लिए बाकी सारी चीजें भी जरूरी हैं। तब से ये बातें भी सामने आ रही हैं कि 14 अप्रैल को लॉकडाउन खत्म होने के बाद कई ऐसे काम शुरू होंगे, जिनसे आर्थिक विकास दर बढ़े।

{Curfew Pass} Corona e Pass Online Apply

  1. WHO ने सुझाया 3L फॉर्मूला
    हम अपने सभी राष्ट्रवासियों को बताना चाहते हैं कि, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 3L फॉर्मूला सुझाया है, जो लाइफ, लाइवलीहुड और लिविंग हैं। यानी कि नाबरो ये कहना चाहते हैं कि सरकार को जीवन, आजीविका और जीने के तरीके पर भी ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है। पीएम मोदी ने फॉर्मूला की बात नहीं की थी, लेकिन ‘जान भी, जहान भी’ की बात कहकर इशारा यही किया था।
  2. 20 अप्रैल,2020 से मिल सकती हैं सशर्त रियायत

प्रधानमंत्री ने घोषणा की हैं कि, जो राज्य इस दौरान कोरोना के नये हॉट-स्पॉट को नहीं बनने देंगे, अपने यहां कोरोना को बढ़ने नहीं देगे और बेहतर तरीके से लॉकडाउन का पालन करेगे उन राज्यो को कुछ जरुरी और मूलभूत सुविधायों व खासकर हमारे गरीब जनता को देखते हुए 20 अप्रैल,2020 से हल्की छूट दी जायेगी लेकिन जैसे कि, कोई भी नया कोरोना का मामला आता हैं उनसे ये छूट ले ली जायेगी इसलिए ये छूट सशर्त हैं जिसका पालन हर राज्य को करना होगा।

Corona Helpline Number, Emergency No.

  1. 7 सिद्धान्तो के पालन का किया निवेदन

हम अपने राष्ट्रवासियों को बताना चाहते हैं कि, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी में लॉकडाउन 2.0 को लागू करते हुए 7 सिद्धातों के पालन किया किया निवेदन जो कि, इस प्रका हैं-

  • अपने घर के तमाम बड़े-बुजुर्गो का ख्याल रखिये,
  • सरकार द्धारा जारी किये गये सभी दिशा-निर्देशो का पालन कीजिए,
  • अपनी प्रतिरोधक क्षमता के विकास के लिए आयुष मंत्रालय के दिशा-निर्देशो का पालन कीजिए,
  • हर भारतवासी अपने फोन में आरोग्य सेतू ऐप्प को डाउनलोड करें,
  • हर भारतवासी को गरीब परिवारो के देख-भाल का जिम्मा उठाना होगा,
  • अपने यहां काम कर रहे लोगो के प्रति सहानुभूति रखें औऱ उन्हें नौकरी से ना निकाले व
  • भारतवर्ष के कोरोना योद्धाओं अर्थात् पुलिस कर्मियों, चिकित्सको, नर्सो व अन्य सभी मूलभुत जरुरत पूरी करने वाले कोरोना योद्धाओं का सम्मान करें।

प्रधानमंत्री में उपरोक्त 7 सिद्धांतो का पालन करने के लिए हर भारतवासी से निवेदन किया हैं ताकि मिलकर कोरोना को हराया जा सकें।

  1. लॉकडाउन 2.0 की नई व्यवस्था का ब्लू-प्रिं

हम अपने सभी राष्ट्रवासियो को सूचित करना चाहते हैं कि, लॉकडाउन 2.0 की नई व्यवस्था का ब्लू-प्रिंट जारी कर दिया गया हैं जो कि, इस प्रकार हैं-

  • Hotspots को लेकर बहुत ज्यादा सतर्कता बरतनी होगी। जिन स्थानों के Hotspot में बदलने की आशंका है उस पर भी हमें कड़ी नजर रखनी होगी,
  • नए Hotspots का बनना, हमारे परिश्रम और हमारी तपस्या को और चुनौती देगा। अगले एक सप्ताह में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में कठोरता और ज्यादा बढ़ाई जाएगी,
  • 20 अप्रैल तक हर कस्बे, हर थाने, हर जिले, हर राज्य को परखा जाएगा, वहां लॉकडाउन का कितना पालन हो रहा है, उस क्षेत्र ने कोरोना से खुद को कितना बचाया है, ये देखा जाएगा,
  • जो क्षेत्र इस अग्निपरीक्षा में सफल होंगे, जो Hotspot में नहीं होंगे, और जिनके Hotspot में बदलने की आशंका भी कम होगी, वहां पर 20 अप्रैल से कुछ जरूरी गतिविधियों की अनुमति दी जा सकती है,
  • लॉकडाउन के नियम अगर टूटटे हैं और कोरोना का पैर हमारे इलाके में पड़ता है तो सारी अनुमति वापस ले ली जाएगी।इसलिए न खुद लापरवाही करनी है और न दूसरों को लापरवाही करने देनी है।
  • हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर के मोर्चे पर भी हम तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। जहां जनवरी में हमारे पास कोरोना की जांच के लिए सिर्फ एक लैब थी, वहीं अब 220 से अधिक लैब्स में टेस्टिंग का काम हो रहा है।
  • भारत में आज हम 1 लाख से अधिक Beds की व्यवस्था कर चुके हैं। 600 से भी अधिक ऐसे अस्पताल हैं, जो सिर्फ कोविड के इलाज के लिए काम कर रहे हैं। इन सुविधाओं को और तेजी से बढ़ाया जा रहा है।

अन्त, उपरोक्त बिंदु लॉकडाउन 2.0 के ब्लू-प्रिंट की तस्वीर हैं जिनके तहत नई व्यवस्था को 19 दिनो के लिए लगाया जायेगा।

COVID 19 Map: Coronavirus World Map Live Tracker

Leave a Comment