{Closed} राजीव थाली योजना 2021 | Rajiv Thali Yojana Online Registration - Sarkari Yojana 2023 | सरकारी योजना 2023

{Closed} राजीव थाली योजना 2021 | Rajiv Thali Yojana Online Registration

राजीव थाली योजना 2021  

।। Rajiv Thali Yojana 2021 ( राजीव थाली योजना बंद हो चुकी है ) ।। Rs. 25 Meal Scheme in Himachal Pradesh 2021 ।। राजीव थाली योजना 2021 – पूरी जानकारी ।।

Introduction

हम, अपने इस लेख में, हिमाचल प्रदेश के सभी आम नागरिको व बस यात्रियों को राज्य सरकार द्धारा Rajiv Thali Yojana 2021 ( Closed ) के बारे में, बताना चाहते हैं जिसके तहत आपको सभी बस स्टैंडो व अड्डो पर सिर्फ 25 रुपय की कीमत पर स्वादिष्ट व पौष्टिक भोजन से भरपूर थाली प्रदान की जायेगी ताकि ना केवल आपकी यात्रा आरामदायक हो बल्कि आपका आर्थिक विकास भी हो।

वहीं दूसरी तरफ इस योजना का मौलिक लक्ष्य हैं कि, यात्रा के दौरान ढाबों द्धारा वूसल की जाने वाली मनमानी कीमतो से शोषण से यात्रियों को मुक्ति प्रदान करना और उन्हें शुद्ध व स्वास्थ्यवर्धक भोजन प्रदान करना।

अन्त, इस योजना को ऊना व मंडी जैसे क्षेत्रो में, बंद कर दिया गया है जबकि कांगरा जिले के धर्मशाला व पालमपुर आदि क्षेत्रो में, योजना चालू है। हम, इस लेख में, आपको राजीव थाली योजना 2021 ( बंद ), Rs. 25 Meal Scheme In Himachal Pradesh 2021 व राजीव थाली योजना 2021 – पूरी जानकारी प्रदान करेंगे ताकि आप इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकें।

Short Detail of Rajiv Thali Yojana

हिमाचल प्रदेश सरकार की नई योजना Rajiv Thali Yojana 2021
योजना की शुरुआत किसने की? हिमाचल प्रदेश सरकार के परिवहन विभाग के मंत्री जी.एस बाली जी ने।
योजना का केंद्रीय उद्धेश्य राज्य के सभी बस स्टैंडो व अड्डो पर यात्रियों को सिर्फ 25 रुपय प्रति थाली की दर से स्वादिष्ट व पौष्टिक भोजन प्रदान करना और ढाबों की मनमानी कीमतो पर लगाम लगाना।
इन्हें मिलेगा योजना का लाभ राज्य के सभी बस यात्रियों को इस योजना का लाभ प्रदान किया जायेगा।
योजना के तहत जारी न्यू अपडेट Rajiv Thali Yojana 2021 ( Closed ) को ऊना व मंडी आदि क्षेत्रो में, बंद कर दिया हैं जबकि कांगरा जिले के धर्मशाला व पालमपुर आदि क्षेत्रो में, योजना चालू है।
योजना के प्रेरणा कहां से मिली? Rajiv Thali Yojana 2021 ( Closed ) की प्रेरणा तमिलनाडु की अम्मा कैंटिन से मिली।
योजना के तहत एक थाली की कीमत क्या है? 25 रुपय।
योजना के तहत का किस दूसरे बस के लिए शुरु किया गया है और उनकी कीमत कीतनी है? इस योजना को सफल होने के बाद इसे वोल्वो बसो व उनके यात्रियों के लिए शुरु किया गया बस एक थाली की कीमत थोड़ी ज्यादा है।

 

राजीव थाली योजना 2021 ( बंद ) क्या है?

हिमाचल प्रदेश की क्रियात्मक सरकार ने, राज्य के सभी बस स्टैंडो पर यात्रियों को पौष्टिक, शुद्ध व किफायती भोजन उपलब्ध करवाने के लिए Rajiv Thali Yojana 2021 ( राजीव थाली योजना बंद हो चुकी है ) का शुभारम्भ किया था जिसकी एक थाली की कीतम सिर्फ 25 रुपय तय की गई थी।

राज्य सरकार की ये योजना बेहद महत्वाकांक्षी और परिवहन सशक्तिकरण में, एक मील का पत्थर मानी जा रही थी क्योंकि जहां एक तरफ बस यात्रियों को शुद्ध और पौष्टिक भोजन की सुविधा प्रदान की गई थी वहीं दूसरी ओर सडको के किनारे स्थिति ढाबों की मनमानी कीमतो से उनके शोषण से मुक्ति भी दी गई थी जिससे ना केवल यात्रियों का सफल सुखदायक बना था बल्कि साथ ही साथ उन्हें स्वादिष्ट व पौष्टिक भोजन की प्राप्ति भी हुई थी।

यूपी दशमोत्तर छात्रवृत्ति योजना 2021

Rajiv Thali Yojana 2021 – मौलिक लक्ष्य क्या था?

राजीव थाली योजना जो कि, हिमाचल प्रदेश सरकार की एक बेहद कल्याणकारी योजना था इसका मौलिक लक्ष्य था यात्रा के दौरान ढाबों द्धारा मनमानी कीमतो के शोषण से यात्रियों को मुक्ति प्रदान करना और उन्हें सस्ती कीमतो पर स्वादिष्ट और पौष्टिक भोजन प्रदान करना।

पिछले लम्बे समय से यात्रियों की शिकायत आ रही थी कि, ढावो के द्धारा उनसे अत्यधिक कीमत वसूली जा रही है जिस पर जबावी कार्यवाही करते हुए हिमाचल प्रदेश परिवहन विभाग ने, Rajiv Thali Yojana 2021 को राज्य स्तर पर लागू किया जिससे ना केवल अत्यधिक कीमत वसूलने वाले ढाबों पर लगाम लगाई गई बल्कि साथ ही साथ यात्रियों को सस्ती कीतमो पर शुद्ध व पोषणपूर्ण भोजन भी प्रदान किया गया है।

Rajiv Thali Yojana 2021 की प्रेरणा कहां से मिली?

हम, अपने सभी पाठको व हिमाचल प्रदेशवासियों को बताना चाहते हैं कि, हिमाचल प्रदेश द्धारा राजीव थाली योजना 2021 की प्रेरणा तमिलनाडु सरकार द्धारा जारी अम्मा कैंटिन से लिया गया था और इसका शुभारम्भ हिमाचल प्रदेश के परिवहन मंत्री श्री. जी.एस. बाली के द्धारा किया गया था।

राजीव थाली योजना 2021, अम्मा कैंटिन योजना से कैसे अलग थी?

हिमाचल प्रदेश ने, केवल योजना के विचार को तमिलनाडु सरकार से ग्रहण किया था जबकि दोनो योजना में, जमीन आसमान का अन्तर था जैसे कि – तमिलनाडु की अम्मा कैंटिन योजना का लक्ष्य था गरीब व आर्थिक तौर पर कमजोरो लोगो को सस्ती कीमतो पर ताजा और भरपेट भोजन प्रदान करना।

जबकि हिमाचल प्रदेश सरकार कि, राजीव थाली योजना 2021 का मुख्य लक्ष्य राज्य के सभी बस स्टैंड या अड्डो पर यात्रियों को सस्ती कीमतो पर ताजा व पौष्टिक भोजन प्रदान करना था जिससे ना केवल उनकी यात्रा आरामदायक सिद्ध हो बल्कि उनका स्वास्थ्य सशक्तिकरण भी हो।

Rajiv Thali Yojana 2021 – थाली की विशेषता व कीमत क्या थी?

यहां ये बताना बहुत जरुरी हो जाता है कि, राजीव थाली योजना कई मानयो में, अम्मा कैंटिन योजना से अलग और खास थी। राजीव थाली योजना के तहत आपको एक थाली में, सम्पूर्ण भोजन का मिश्रण प्रदान किया जाता था जिसमें इन खाद्य पदार्थो को शामिल किया जाता था जैसे कि – दो रोटी / चपाती, एक कटोरी स्वादिष्ट दाल, जायकेदार सब्जी के साथ – साथ चावल परोसा जाता था।

यूपी दशमोत्तर छात्रवृत्ति योजना 2021

इस योजना का सबसे बड़ा और मुख्य आकर्षण पहलू ये था कि, इस पूरी स्वादिष्ट और पौष्टिक भोजन से भरी थाली की कीमत सिर्फ 25 रुपय रखी गई थी ताकि यात्रियों को रुपयो की असुविधा का सामना ना करना पड़े और उनका पर्याप्त मात्रा में, परिवहन व स्वास्थ्य विकास् हो सकें।

राजीव थाली योजना 2021 – वोल्वो बसो को भी मिला इसका लाभ

जैसे – जैसे इस योजना में, सफलता अर्जित की वैसे – वैसे इस योजना को धीरे – धीरे वोल्वो बसो व उनके यात्रियों के लिए भी शुरु किया गया अन्तर केवल इतना था कि, वोल्वो बसो व उनके यात्रियों के लिए इसकी एक थाली की कीमत निर्धारित 25 रुपय से कुछ ज्यादा थी।

राजीव थाली योजना 2021 , अभी तक काफी सफल रही है और राज्य का परिवहन मंत्रलाय उन कुछ विशेष स्थानो की खोज कर रहे हैं जहां पर वोल्वो बसो के लिए राजीव थाली योजना की व्यवस्था की जा सकें ताकि उन्हें नियमित तौर पर लाभान्वित किया जा सकें।

Rajiv Thali Yojana 2021 – दैनिक तौर पर 1,000 रुपय कमाइए?

हम, अपने सभी राज्य की जनता को बताना चाहते है कि, Rajiv Thali Yojana 2021 ( Closed ) ना केवल आपको स्वादिष्ट और पौष्टिक भोजन प्रदान करती है बल्कि साथ ही साथ आपको आमदनी का स्रोत भी प्रदान करती है जिसे अपनाकर आप रोजना 1,000 रुपयो तक की कमाई कर सकते हैं।

पहले इस योजना के तहत थाली बेचने के लिए लोग सामने नहीं आते थे लेकिन योजना की सफलता के बाद तस्वीर बदल चुकी है और कई युवा, युवा संगठन, बेरोजगार युवा व सहकारी संस्थायें योजना के तहत थाली बेचने के लिए सामने आ रही हैं।

योजना के तहत यदि आप रोजाना 500 थालियां बेच देते हैं तो आपको प्रति थाली 2 रुपयो का मार्जिन प्रदान किया जाता है यानि आप एक दिन में, 1000 रुपय कमा सकते हैं जिससे ना केवल आपका स्वास्थ्य विकास होगा बल्कि आपको रोजगार भी प्राप्त होगा।

Rajiv Thali Yojana 2021 – कहां पर किया गया योजना को बंद?

अपने इस लेख के माध्यम से हम, आपको बताना चाहते है कि, हिमाचल सरकार द्धारा इस Rajiv Thali Yojana 2021 ( Closed ) को ऊना व मंडी आदि क्षेत्रो में बंद कर दिया गया है जबकि कांगरा जिले के धर्मशाला और पालमपुर आदि क्षेत्रो में, इस योजना का क्रियान्वयन जारी है।

CSC Online Registration 2021

Leave a Comment